कासगंज में सिपाही को प्रताड़ित करने वाले दरोगा पर कार्रवाई:महिला सिपाही ने की थी आत्महत्या की कोशिश, इंस्पेक्टर पर लगाया था प्रताड़ना का आरोप; डीआईजी ने की कार्रवाई

कासगंज4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कासगंज में महिला सिपाही को प्रताड़ित करने के आरोप में इंस्पेक्टर पर हुई कार्रवाई। - Dainik Bhaskar
कासगंज में महिला सिपाही को प्रताड़ित करने के आरोप में इंस्पेक्टर पर हुई कार्रवाई।

उत्तर प्रदेश के कासगंज में एक महिला सिपाही का प्रताड़ना से तंग आकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया था। दरअसल, उसका आरोप था कि थाने के इंस्पेक्टर से उसने मेडिकल कारणों से छुट्टी मांगी थी। जिस पर उसने उसे छुट्टी ना देकर उल्टा उसकी ड्यूटी लगा दी। जिसके चलते उसने फांसी लगाकर सुसाइड करने की कोशिश की थी। हालांकि, आसपास के लोगों ने उसे बचा लिया। अब डीआईजी ने इस मामले में आरोपी इंस्पेक्टर पर कार्रवाई की है।

पुलिस क्वार्टर में लगाई थी फांसी

मामला जनपद के सहावर थाने का है। जहां पर तैनात महिला सिपाही वैशाली पुंढीर ने 6 जुलाई को पुलिस क्वार्टर में फांसी लगाने की कोशिश की थी। वहां मौजूद अन्य महिला पुलिसकर्मियों ने उसे ऐसा करते देख लिया। उनके शोर मचाने पर दूसरे पुलिस वाले वहां पहुंचे और महिला को नीचे उतारा। वह लोग उसे अस्पताल लेकर गए जहां उसका इलाज किया गया।

इंस्पेक्टर पर लगाए गंभीर आरोप

पीड़िता ने आरोप लगाया कि थाना प्रभारी राजेश कुमार मीणा से उसने छुट्टी मांगी थी। क्योंकि उसकी तबीयत खराब थी। प्रभारी ने उसे छुट्टी न देकर उसकी ड्यूटी लगा दी। इसी से तंग आकर उसने यह कदम उठाया। उसने यह भी बताया कि उसे एक महीने से प्रताड़ित किया जा रहा है। आरोपी का यह रवैया सभी महिला पुलिसकर्मियों के साथ रहता है।

पुलिस की हुई किरकिरी

मामला सामने आने के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। डीआईजी अलीगढ़ दीपक कुमार ने लैंगिक विभेद के मामले में एक जांच कमेटी गठित की। जिसमें महिला जांच अधिकारी को भी रखा गया था। पुलिस ने बताया कि जांच में मामले से जुड़े तथ्य मिले है। डीआईजी ने आरोपी इंस्पेक्टर को थाने से हटाकर अपने कार्यालय में अटैच कर लिया है।

खबरें और भी हैं...