आगरा में 'मेट्रो की दीवार' का विरोध:भीड़ ने एकजुट होकर किया हंगामा; बोले- इससे रास्ते बंद हो जाएंगे

आगरा2 महीने पहले
मेट्रो के भूमिगत मार्ग पर दीवार लगाने के विरोध में एकजुट ताजगंज के लोग सभा करते हुए।

आगरा के मेट्रो निर्माण का प्रगति पर है। ताजगंज में होटल ताज व्यू तिराहे से गुम्मट होकर मेट्रो भूमिगत मार्ग पर दीवार लगाने कार्य किया जा रहा है। स्थानीय लोगों ने आज यानी बुधवार को इसका विरोध किया।

बैनर लगाकर मेट्रो के अधिकारियों के खिलाफ की गई नारेबाजी।
बैनर लगाकर मेट्रो के अधिकारियों के खिलाफ की गई नारेबाजी।

स्थानीय निवासी एवं अपनी पार्टी सेक्यूलर के अध्यक्ष दिलीप सिंह चौहान ने बताया कि पहले पीएसी ग्राउंड होकर यह भूमिगत लाइन जानी थी। वहां से मेट्रो स्टेशन की दूरी कम है। स्टेशन से डिपो की दूरी बढ़ाकर प्रोजेक्ट की लागत बढ़ाने के उद्देश्य से कुछ अधिकारी यह नया राश्ता अपना रहे हैं।

इससे हजारों लोग प्रभावित होंगे। मेट्रो की भूमिगत लाइन के दोनों ओर दीवार लगने से यहां की आबादी के लिए के आवागमन के रास्ते अवरुद्ध हो जाएंगे। लोगों के सामने बस्ती और कॉलोनियों से बाहर निकलने के लिए बड़ी मुश्किलें खड़ी हो जाएंगी।

मेट्रो की दीवार निर्माण का काम बंद कराने के लिए लोगों किया प्रदर्शन।
मेट्रो की दीवार निर्माण का काम बंद कराने के लिए लोगों किया प्रदर्शन।

उग्र आंदोलन करने की दी चेतावनी
आज क्षेत्रीय लोगों ने बैठक कर दीवार का निर्माण न होने देने के लिए रणनीति बनाई। लोगों ने बताया कि दीवार निर्माण के लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री के यहां तथा मेट्रो के उच्च अधिकारियों से भी शिकायत की है। हालांकि उस पर अभी कोई निर्णय नहीं हुआ है।

लोगों का कहना है कि निर्णय आने तक मेट्रो को यहां काम रोक देना चाहिए। जल्द ही दीवार का निर्माण का काम नहीं रुका तो वे उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे। केएस वर्मा, पूर्व पार्षद सतीश वर्मा, अरविंद सिसोदिया, विजय शर्मा, देवेंद्र सिंह, रमेश बघेल, राजू गुप्ता, प्रेम सिंह, संजय चौहान, सूरज कुशवाह आदि ने विरोध जताया।

खबरें और भी हैं...