आगरा...अंडरपास की मांग पर धरना:तीसरे दिन पहुंचे राज्यमंत्री को आक्रोश का करना पड़ा सामना, बोले काम हो तो भी न देना वोट

आगरा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आगरा कैंट क्षेत्र आगरा झांसी रुट पर अंडरपास की मांग को लेकर धरने पर बैठे लोगों से मिलने पहुंचे राज्य मंत्री जी एस धर्मेश  - Dainik Bhaskar
आगरा कैंट क्षेत्र आगरा झांसी रुट पर अंडरपास की मांग को लेकर धरने पर बैठे लोगों से मिलने पहुंचे राज्य मंत्री जी एस धर्मेश 

आगरा कैंट क्षेत्र मेआगरा जगनेर रोड पर आगरा ग्वालियर रेलवे लाइन के अंडरपास की मांग को लेकर क्षेत्रवासियों के धरने के तीसरे दिन राज्यमंत्री और स्थानीय विधायक जी एस धर्मेश लोगों को समझाने के लिए पहुंचे। लोगों के विरोध से तिलमिलाए मंत्री ने काम हो जाने परभी उन्हें वोट न देने की बात कहते हुए वहां से निकल जाना उचित समझा।

बता दें की आगरा-झांसी रेल लाइन से आर-पार जाने के लिए रास्ते की मांग को लेकर आगरा जगनेर रोड के नगला पुलिया शिवनगर नारीपुरा वाल्मीकि बस्ती सहित दर्जनभर मोहल्ले के लोग आगरा कैंट रेलवे स्टेशन के नजदीक केबिन के पास पिछले 3 दिन से धरना देकर बैठे हैं। धरने के तीसरे दिन क्षेत्रीय विधायक और यूपी राज्यमंत्री डॉ. जी एस धर्मेश आंदोलित क्षेत्रीय जनता के लोगों से मिलने और आंदोलन को समाप्त करने के लिए धरना स्थल पर पहुंचे। विकास नहीं कराने से आक्रोशित क्षेत्रीय जनता ने विधायक को खरी-खोटी सुनाई। सभी ने खुले मंच से विधायक को दो टूक शब्दों में काम नहीं तो वोट नहीं की बात कही। क्षेत्रीय जनता के दो टूक जवाब से क्षेत्रीय विधायक बुरी तरह से तिलमिला गए और उन्होंने भी जनता को वोट नहीं देने की बात कह डाली। माइक से संबोधित करते हुए राज्यमंत्री डॉक्टर जी एस धर्मेश ने कहा कि ‘अगर आपका काम हो जाए तब भी मुझे वोट मत देना।’ इसके बाद उन्होंने यहां काम न किए जाने पर अपनी सफाई दी और धरना स्थल से चले गए। राज्यमंत्री डॉ. धर्मेश के इस

व्यवहार से आंदोलित क्षेत्रीय जनता के आंदोलन में आग में घी डालने का काम कर दिया। धरने पर बैठे लोग और उग्र हो गए और अब उन्होंने अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल करने का ऐलान कर दिया है।

राज्यमंत्री ने दी सफाई

राज्यमंत्री डॉ जी एस धर्मेश के अनुसार क्षेत्रीय लोग आक्रोशित हैं। उनकी जानकारी में मामला आया था और हमारी पार्टी वोट और जातिगत राजनीति नहीं करती है। जनता की समस्याओं का जल्द समाधान करवाया जाएगा। इस मामले में राजनीति से हटकर जनसमस्या को दूर करने की बात करनी चाहिए।