आगरा से किडनैप बच्चा मथुरा में मिला:पुलिस परिवार के साथ ला रही घर; किडैनप करने पूरी वारदात CCTV में हुई थी कैद

आगरा13 दिन पहले

उत्तर प्रदेश के आगरा में मंगलवार शाम 2 साल के बच्चे का अपहरण हो गया। परिवार के लोगों ने CCTV फुटेज खंगाली तो उन्हें किडनैपर नजर आया। परिजनों ने किडनैपर को ढूंढना शुरू किया और काफी मशक्कत के बाद वह कैंट स्टेशन के पास मिल गया। परिजनों को लगा कि अब बच्चा भी मिल जाएगा, लेकिन उनकी उम्मीद धरी की धरी रह गई।

किडनैपर शराब के नशे में धुत था। परिजनों ने उससे बच्चे के बारे में पूछा तो वह बोला- मुझे याद नहीं, बच्चे को कहां और किसके पास छोड़ दिया। इसके बाद परिवार के सदस्यों ने किडनैपर को पुलिस के हवाले कर दिया। बुधवार दोपहर तक किडनैपर बच्चे के बारे में कोई जानकारी नहीं दे पाया है। देर रात बच्चा मथुरा में मिला। SOG टीम परिवार संग आगरा के आ रही है।

फोटो के सहारे बच्चे को ढूंढ रही थी पुलिस
परिवार के लोग परेशान हैं कि उनका बच्चा कहां है। पुलिस को आशंका है कि किडनैपर बच्चा चोर हो सकता है। उसने भिखारी गैंग को बच्चा बेच दिया होगा। एक आशंका ये भी है कि बच्चे के साथ शारीरिक संबंध बनाने के बाद मर्डर किया हो। पुलिस ने आगरा और आस-पास के शहरों में बच्चे मयंक की तस्वीर भेजी है।

  • खबर में पोल है। आगे बढ़ने से पहले इसमें हिस्सा लेकर अपनी राय दे सकते हैं।

चौकीदार बनकर आया, चॉकलेट दिलाने के बहाने बच्चा ले गया

आरोपी युवक लाल टीशर्ट पहने और सिर पर गमछा बांधे था।
आरोपी युवक लाल टीशर्ट पहने और सिर पर गमछा बांधे था।

मयंक के चचेरे भाई राहुल ने बताया, "हम लोग शाहगंज इलाके में रहते हैं। मेरे भाई जय प्रकाश का 2 साल का बेटा मयंक रोज की तरह घर के बाहर खेल रहा था। अचानक ही गायब हो गया। हमने आस-पास पड़ोस में पूछताछ शुरू की।

इस दौरान एक संदिग्ध युवक के बारे में पता चला। जो चौकीदार बनकर मोहल्ले में आया था। एक दुकानदार ने बताया कि मयंक को वही युवक अपने साथ चॉकलेट दिलाने लाया था। इसके बाद बच्चे को लेकर ई-रिक्शा पर बैठकर चला गया। आरोपी युवक लाल टीशर्ट पहने और सिर पर गमछा बांधे था।

इसके बाद परिवार के लोगों ने पुलिस को पूरी जानकारी दी और गुमशुदगी दर्ज कराई। इसके बाद आस-पास लगे CCTV में बच्चे को ढूंढते रहे। एक फुटेज में ऑटो में बैठा संदिग्ध युवक नजर आया। परिवार के लोग उसको ढूंढते हुए रात में ही कैंट स्टेशन तक पहुंच गए। यहां युवक नशे में धुत मिला।

किडनैपिंग के बाद से परिवार में न कोई सोया, न किसी ने कुछ खाया

राहुल ने बताया कि मयंक के पिता मोहल्ले में ही परचून की दुकान चलाते हैं। उनके दो बच्चे हैं। मयंक छोटा है। पूरे परिवार का वो लाडला है। कल से हमारे घर में न कोई सोया है और न किसी ने कुछ खाया है। बस सब रोए जा रहे हैं, हमें अनहोनी का डर बहुत ज्यादा परेशान कर रहा है।

पता नहीं मयंक कैसा होगा? फिलहाल पुलिस ने संदिग्ध आरोपी की पहचान ओपन नहीं की है। वो नशे की हालत में है, लगातार बयान बदल रहा है। उसका कहना कि वो कहां था, उसने क्या किया। उसको कुछ याद नहीं। फिलहाल पुलिस शाहगंज से दूसरे एरिया के लिए जाने वाली सभी सड़कों के CCTV खंगाल रही है। ताकि बच्चे का सुराग लग सके।

  • बच्चा चोरी से जुड़ीं ये खबर भी आप पढ़ सकते हैं...

मथुरा स्टेशन से 7 महीने का बच्चा चोरी, VIDEO

मथुरा रेलवे स्टेशन से 7 महीने का बच्चा चोरी हो गया। वह प्लेटफार्म पर मां के बगल में सो रहा था। तड़के 4.20 बजे सफेद शर्ट और ब्लैक पैंट पहने एक युवक आया। वहां थोड़ी देर प्लेटफार्म पर टहलता रहा। इसके बाद मां को हाथ से हिलाकर देखा। कंफर्म होने पर की मां सो रही है। इसके बाद वह चुपचाप बच्चे को उठाकर कई कदम धीरे-धीरे चला। जैसे ही कुछ कदम आगे बढ़ा। भागकर स्टेशन के बाहर निकल गया। (यहां पढ़ें पूरी खबर)

अब आपको भिखारी गैंग के बारे में भी पढ़वाते हैं...

कानपुर के युवक को भिखारी गैंग ने किया अगवा, आंखें फोड़ीं, हाथ-पैर तोड़े

कानपुर के यशोदा नगर से 6 महीने पहले एक युवक को भिखारी गैंग ने अगवा कर लिया। इसके बाद उसकी दोनों आंखें फोड़ दी। हाथ-पैर तोड़ दिए। शरीर को कई जगह गर्म लोहे की रॉड से दागा। चापड़ से चेहरे पर कई जख्म किए। इतनी यातनाएं दी गईं कि रूह तक कांप जाए। घर लौटा तो परिवार के लोग भी उसे पहचान नहीं सके।

ये किसी फिल्मी सीन की कहानी नहीं, बल्कि कानपुर से लापता युवक का दर्द है। जिसे भिखारी गैंग ने अगवा किया और उसका ये हाल कर दिया। नौबस्ता पुलिस ने मामले में FIR दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। (यहां पढ़ें पूरी खबर)

दादी का दर्द- मेरा बच्चा भूखा ही चला गया

आगरा में शनिवार को एक मासूम को किडनैप किया गया। फिर उसकी गोली मारकर हत्या कर दी गई। मासूम को मारने के बाद हत्यारोपी बच्चे के घर पहुंचा। वह माता-पिता के साथ 4 घंटे तक बच्चे को तलाशने का ड्रामा करता रहा। मगर, बाद में पुलिस को शक होने पर उससे कड़ाई से पूछताछ की गई। इसके बाद आरोपी बंटी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। मामला एत्माद्दौला इलाके के शंभूनगर का है। (यहां पढ़ें पूरी खबर)