पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेरोजगार हुए तो बन गए चोर:आगरा मे चोर गैंग पकड़ा, कोडवर्ड में करते थे फिल्मी अंदाज में चोरियां, कान में लगाए रहते थे ब्लू टूथ

आगरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस गिरफ्त में चोर गैग। - Dainik Bhaskar
पुलिस गिरफ्त में चोर गैग।

उत्तर प्रदेश के आगरा में थाना एत्माउद्दौला पुलिस ने क्षेत्र में हो रही चोरी की वारदातों का खुलासा करते हुए 5 चोरों और एक सुनार को गिरफ्तार कर भारी मात्रा में गहने, इलेक्ट्रॉनिक सामान और नकदी बरामद की है। एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद के अनुसार, यह लोग लॉकडाउन में बेरोजगार होने के बाद अपराध की दुनिया मे उतर आए थे और चोरी की वारदातें करने लगे थे।

थाना एत्माउद्दौला क्षेत्र में बीते दिनों कई चोरी की वारदातें सामने आई थीं। इस दौरान चोरों का एक गैंग चोरी करते समय एक मकान के सीसीटीवी में कैद हुआ था। चोरों ने गलती करते हुए दोबारा उसी क्षेत्र में रेकी शुरू की और पीड़ित परिवार ने उन्हें पहचान कर पुलिस को जानकारी दी। इसके बाद पुलिस उन्हें खोजते हुए उनके पूरे गैंग तक पहुंच गई और पांच चोरों को गिरफ्तार कर लिया। चोरी के बाद चोर जिस सुनार को आभूषण बेचते थे उसे भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सुनार के पास मिले आभूषणों को पीड़ितों ने पहचान लिया है। आरोपियों के पास से सात लाख के करीब के सोने चांदी के गहने, एलईडी और 2 हजार नकद बरामद हुए हैं। इन्होंने क्षेत्र में पांच चोरी की वारदातों को कबूल किया है।

कोडवर्ड में करते थे बातें
अपराधी शातिर किस्म के हैं। यह दिन में बाइक से घूमकर बंद घरों की रेकी करते थे और रात में वारदात को अंजाम देते थे। इस दौरान यह लोग फिल्मी स्टाइल में ब्लूटूथ कान में लगाकर एक दूसरे के संपर्क में रहते थे। बाहर चौकीदारी काटने वाले साथी कोई बात होने पर कोडवर्ड में बोलते थे और बाकी साथियों को पता चल जाता था।

शौक पूरा करने को बन गए चोर
एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद के अनुसार इन पांच चोरों में मोनू उर्फ कान्हा सरगना है। इसके अन्य साथी अजय, अवतार, अनिल, गौरी और सामान खरीदने वाला सुनार रवि वर्मा है। पांचों चोर में कुछ जूता कारीगर हैं और प्राइवेट काम करने वाले हैं। बीते वर्ष के लॉकडाउन में बेरोजगार होने के बाद यह अपने शराब,जुआ आदि शौक पूरे नहीं कर पा रहे थे और चोरी करने लगे। सभी पर गैंगेस्टर एक्ट की कार्रवाई भी की जाएगी।