आगरा यूनिवर्सिटी का 86वां दीक्षांत समारोह:इस बार किसी को नहीं मिलेगी मानद उपाधि, 108 पदक किए जाएंगे प्रदान, 21 दिसंबर को होगा समारोह

आगराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आगरा के डा. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय ( आगरा यूनिवर्सिटी) के 21 दिसंबर को होने वाले दीक्षांत समारोह में इस बार किसी को मानद उपाधि से सम्मानित नहीं किया जाएगा। इस साल ओमिक्रॉन वेरिएंट के खतरे को देखते हुए दीक्षांत समारोह में सीमित लोगों को ही बुलाया जाएगा। आयोजन की तैयारियां शुरू हो गई हैं।

108 पदक प्रदान किए जाएंगे
डा. बीआर आंबेडकर विश्वविद्यालय के 86वें दीक्षांत समारोह पहले 19 दिसंबर को होना था, लेकिन राजभवन से दीक्षांत समारोह 21 दिसंबर को करने की अनुमति मिली है। इसके साथ अब विश्वविद्यालय प्रशासन ने शैक्षिणक सत्र 2019-20 के दीक्षांत समारोह के 21 दिसंबर को आयोजित करने की तैयारी शुरू कर दी हैं। कुलपति प्रो. आलोक कुमार की अध्यक्षता में बैठक हुई। इसमें निर्णय लिया गया कि इस बार दीक्षांत समारोह खंदारी परिसर के जेपी सभागार में होगा। इस बार किसी को मानद उपाधि प्रदान नहीं की जाएगी। दीक्षांत में 45 विद्यार्थियों को पीएचडी, आठ को डी लिट, छह को चल वैजयंती समेत कुल 108 पदक प्रदान किए जाएंगे। कोरोना संक्रमण के चलते समारोह में सीमित लोगों को ही प्रवेश मिलेगा। छात्र-छात्राओं के परिजन बाहर एलईडी पर कार्यक्रम का प्रसारण देख सकेंगे। विशिष्ट अतिथि उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा होंगे।

कुलपति के संक्रमित होने से टला था आयोजन
शैक्षिणक सत्र 2019-20 का दीक्षांत समारोह इस वर्ष पांच अप्रैल में होना था। इसके लिए पदकों की घोषणा भी कर दी गई थी, लेकिन कुलपति प्रो. अशोक मित्तल के कोरोना संक्रमित होने पर समारोह को स्थगित कर दिया गया था। इसके बाद अब राजभवन से समारोह की स्वीकृति मिली है।