पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Agra
  • Two Miscreants Died In A Police Encounter In Agra, Badan Singh Was Absconding In The Kidnapping Case Of Senior Doctor Umakant Gupta

आगरा... डॉक्टर को किडनैप करने वाले दो बदमाशों का एनकाउंटर:फिल्मी स्टाइल में दो घंटे तक चली मुठभेड़, SSP ने बताई पूरी कहानी, कहा- बाइक रोकने पर पुलिस पर गोलियां चला रहे थे, जवाबी फायरिंग में मारे गए

आगरा12 दिन पहले
पुलिस दोनों को देर रात एसएन मेडिकल कालेज के इमरजेंसी में लेकर पहुंची। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

आगरा में सीनियर डॉक्टर उमाकांत गुप्ता को किडनैप करने वाले दो बदमाशों को पुलिस ने मार गिराया। बुधवार की देर रात करीब दो घंटे तक चले एनकाउंटर में दोनों बदमाशों को पुलिस ने ढेर कर दिया। बदन सिंह पर एक लाख का इनाम भी था। एनकाउंटर के बाद SSP मुनिराज ने इस फिल्मी एनकाउंटर की पूरी कहानी बताई।

जंगल में घेरकर पुलिस ने किया ढेर
SSP का दावा है कि डॉक्टर की किडनैपिंग मामले में फरार चल रहे एक लाख के इनामी बदमाश बदन सिंह और उसका साथी अक्षय सिंह से रात करीब एक बजे मुठभेड़ शुरू हुई। पुलिस जगनेर थाना क्षेत्र के कठपुरा इलाके में चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान बदन और अक्षय बाइक से तेज रफ्तार में आते दिखे। पुलिस ने उन्हें रोका तो वो तेज रफ्तार में ही भाग निकले।

मौके पर तैनात पुलिस ने कंट्रोल रूम को इसकी सूचना दी। SSP मुनिराज, SP ग्रामीण सत्यजीत गुप्ता, SOG और स्वाट की टीमें तुरंत अलर्ट हो गईं। सभी बदमाशों के पीछे लग गईं। पुलिस से घिरता देख बदन सिंह ने बाइक कछपुरा के जंगल की तरफ मोड़ दी। आगे उनकी बाइक फिसल गई। SSP का दावा है कि बड़ी संख्या में पुलिस बल को देखने के बावजूद दोनों ने फायरिंग शुरू कर दी।

जवाबी फायरिंग में पहले एक बदमाश को गोली लगी, जबकि एक आगे की तरफ भाग निकला। घायल बदमाश को पुलिस अस्पताल ले गई जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। दूसरी तरफ पुलिस की बाकी टीमें दूसरे बदमाश का पीछा करने लगी। कुछ दूरी पर उसने भी पुलिस पर फायरिंग कर दी और जवाबी फायरिंग में वह भी मारा गया। एनकाउंटर में पुलिस टीम के दो सदस्यों के घायल होने का भी दावा किया गया है।

पुलिस ने बदमाशों को रुकने को कहा। जिस पर उन्होंने फायरिंग कर दी।
पुलिस ने बदमाशों को रुकने को कहा। जिस पर उन्होंने फायरिंग कर दी।

SSP और SP के बुलेट प्रूफ जैकेट पर गोली लगी
SOG टीम ने एक आरोपी की शिनाख्त धौलपुर निवासी शातिर बदमाश एक लाख के इनामी बदन सिंह और दूसरे की अक्षय के रूप में की है। इस एनकाउंटर के दौरान SSP मुनिराज और SP वेस्ट सत्यजीत गुप्ता के बुलेट प्रूफ जैकेट में गोली लगी है और दो पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दोनों अपराधियों को एसएन मेडिकल कालेज ले जाया गया। वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
दोनों अपराधियों को एसएन मेडिकल कालेज ले जाया गया। वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

अपहरण और फिरौती का मास्टरमाइंड था बदन सिंह
शातिर बदन सिंह का आगरा में काफी आतंक था। बदन सिंह डॉक्टर अपहरण कांड से पहले भी तीन अपहरण की वारदातों को अंजाम दे चुका था। डॉक्टर उमाकांत के अपहरण के बाद वो पांच करोड़ की फिरौती मांगने वाला था। लेकिन पुलिस ने पहले ही डॉक्टर को मुक्त करा लिया था। बदन सिंह पर एडीजी राजीव कृष्ण द्वारा एक लाख का इनाम घोषित किया गया था।

एक हफ्ते में तीसरी मुठभेड़, 4 मारे गए
पुलिस ने आगरा में पिछले एक हफ्ते में तीन एनकाउंटर को अंजाम दिया है। 17 जुलाई को कमलानगर थाना क्षेत्र में मणप्पुरम गोल्ड लोन के ऑफिस में दिनदहाड़े 17 किलो सोना और 6 लाख कैश लूटने वाले दो अपराधियों को पुलिस ने वारदात के कुछ घण्टों बाद मुठभेड़ में ढेर कर दिया था। इसके बाद मंगलवार देर रात सैयां में जनसुविधा केंद्र में लूट के चार आरोपियों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया था। अब बुधवार की रात एक बजे के करीब शातिर इनामी बदमाश बदन सिंह और उसके साथी अक्षय राठौर को मुठभेड़ में मार गिराया है। पुलिस के एनकाउंटर के डर से कल मणप्पुरम गोल्ड डकैती के एक आरोपी प्रशांत शर्मा ने थाना कमलानगर में खुद आकर आत्मसमर्पण कर दिया था।

बदन सिंह, फाइल फोटो
बदन सिंह, फाइल फोटो

13 जुलाई को बदमाशों ने डॉक्टर को किडनैप किया था
एत्माउद्दौला थाना क्षेत्र में ट्रांस यमुना कालोनी फेस-2 में डॉक्टर उमाकांत गुप्ता का विद्या नर्सिंग होम है। नर्सिंग होम के पीछे ही उनका निवास है। डॉ. गुप्ता 13 जुलाई की शाम 7:30 बजे अपने घर से कार से (UP 80 EJ 7472) से हॉस्पिटल जाने के निकले थे। आम दिनों में वो 10 बजे तक लौट आते थे। मगर, मंगलवार को रात 11 बजे तक वापस नहीं आए। उनके दोनों मोबाइल फोन भी रात साढे़ आठ बजे से बंद आ रहे थे। ऐसे में डॉ. उमाकांत की पत्नी डा. विद्या गुप्ता को चिंता हुई। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी।

इसके बाद पुलिस की कई टीम डॉक्टर की तलाश में जुट गई। मामले में आगरा पुलिस ने मध्य प्रदेश की पुलिस की भी मदद ली। 14 जुलाई को उन्हें बीहड़ के जंगल से पुलिस ने छुड़ा लिया था। तब से बदन सिंह और उसका साथी फरार चल रहा था।

खबरें और भी हैं...