आगरा पुलिस का गुडवर्क:शातिर वाहन चोर गिरफ्तार, चार गैंगेस्टर पकड़े और दस वारंटियों को भेजा जेल,एसपी बोले - जारी रहेगा अभियान

आगरा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आगरा के थाना मलपुरा में गिरफ्तार वारंटी आज जेल भेजे गए - Dainik Bhaskar
आगरा के थाना मलपुरा में गिरफ्तार वारंटी आज जेल भेजे गए

आगरा पुलिस ने लगातार कार्रवाई करते हुए पंद्रह अपराधियों को जेल भेजा है। इनमें थाना न्यू आगरा से एक वाहन चोर, थाना सिकन्दरा से ऑनलाइन सेक्सवर्धक दवाई बेचने वाले चार गैंगेस्टर और थाना मलपुरा पुलिस द्वारा दस वारंटियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। पुलिस लगातार अपराधियों के खिलाफ अभियान चलाने की बात कह रही है।

जानकारी के मुताबिक एसएसपी सुधीर कुमार द्वारा अपराधियों के खिलाफ धर पकड़ का अभियान चलाया जा रहा है। हर थाने की पुलिस को वांछितों और वारंटियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर जेल भेजने के सख्त निर्देश जारी किए गए हैं। इसी क्रम में एसपी सिटी विकास कुमार के निर्देशन में कार्रवाई करते हुए पंद्रह अपराधियों को जेल भेजा गया है।

थाना न्यू आगरा पुलिस ने शातिर वाहन चोर राजू को चोरी की गाड़ी संग दबोचा
थाना न्यू आगरा पुलिस ने शातिर वाहन चोर राजू को चोरी की गाड़ी संग दबोचा

थाना न्यू आगरा ने पकड़ा शातिर वाहन चोर

थाना न्यू आगरा में बीती 28 नवम्बर को स्क़ुर्क़ब्ह दिवाकर नामक व्यक्ति की इको कार चोरी हुई थी। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर आगरा दिल्ली हाइवे एन एच 2 पर संदिग्ध इको कार को रोका तो इस दौरान मौके का फायदा उठा कर दो लोग फरार हो गए और एक को हिरासत में ले लिया गया। पकड़े गए अभियुक्त का नाम राजू और फरार अभियुक्तों के नाम राजेश व ईशान बताए गए हैं। अभियुक्त कार का नंबर बदलकर उसे दिल्ली में बेचने जा रहे थे।

थाना सिकंदरा पुलिस की हिरासत में गैंगेस्टर के वांछित
थाना सिकंदरा पुलिस की हिरासत में गैंगेस्टर के वांछित

सिकंदरा थाने में पकड़े गए चार गैंगेस्टर

थाना सिकंदरा क्षेत्र में विगत दिनों कॉल सेंटर के माध्यम से ऑनलाइन सेक्स वर्धक दवाओं बेचने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया गया था। इस मुकदमे में गैंगेस्टर की कार्रवाई की गई थी। बीती रात मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने वांछित वीकेश यादव, शुभम वर्मा, राजू और धर्मेंद्र उर्फ भड़क्का को गिरफ्तार कर जेल भेजा है।

थाना मलपुरा पुलिस ने दस वारंटी भेजे जेल

थाना मलपुरा प्रभारी अवनीश त्यागी ने बताया की मंगलवार रात दबिश देकर अलग अलग मुकदमों में वांछित दस वारंटियों को गिरफ्तार किया गया था और सभी को आज न्यायालय के सम्मुख पेश करने के बाद जेल भेजा गया है।