एटा में 15 हजार का ईनामी गिरफ्तार:21 साल से वेश बदलकर दे रहा था पुलिस को चकमा, लूट के मामले में था वांटेड

एटा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
15 हजार का ईनामी गिरफ्तार। - Dainik Bhaskar
15 हजार का ईनामी गिरफ्तार।

उत्तर प्रदेश के एटा में 15 हजार का ईनामी पुलिस के हत्थे चढ़ा है। एटा स्वाट टीम ने इसे हाथरस रोडवेज बस स्टैंड के पास से धर दबोचा। चोरी के मामले में वांछित चल रहा 15 हजार का इनामी दीपक चतुर्वेदी दो दशक से अपना हुलिया बदलकर रह रहा था। पुलिस के डर से अपना व्यवसाय बदलकर वह अलग-अलग शहरों में छिपता फिर रहा था।

थाना जलेसर में वर्ष 2000 में चोरी का मामला दर्ज हुआ था। इस चोरी के केस में सात अन्य अभियुक्त जेल जा चुके हैं। हालांकि, वर्तमान में वह जमानत पर हैं, लेकिन दीपक पकड़ से बाहर था। पुलिस को इसकी सालों से तलाश थी।

3000 किलो पीतल चोरी का दर्ज था केस
दीपक ने अपने साथियों संग मिलकर थाना जलेसर इलाके में चोरी की वारदात को अंजाम दिया था। 19 दिसम्बर 2000 को दीपक जिस अग्रवाल धर्मशाला जलेसर में काम करता था, वहीं उसने घटना को अंजाम दिया था। पीतल के बने हुए घुंघरू, घंटे तथा मंदिर के अन्य सामान सहित उसने 3000 किलो पीतल चोरी की थी। यह पीतल ट्रांसपोर्ट के लिए अग्रवाल धर्मशाला में रखा हुआ था। दीपक अग्रवाल धर्मशाला में ही देखभाल का काम करता था।

आगरा-ग्वालियर में लगाता था ठेला
एसएसपी उदय शंकर सिंह ने बताया कि पिछले एक महीने से एटा स्वाट टीम आगरा व ग्वालियर में अभियुक्त के पीछे थी। इस बीच उसने कई बार अपना व्यवसाय और शहर बदला। आगरा व ग्वालियर में वह ठेला लगाता था। गिरफ्तार के बाद अग्रवाल धर्मशाला के मालिक ने थाने पहुंचकर दीपक की पहचान कर ली है। एसएसपी ने बताया कि चोरी के पीतल को उसने अलीगढ़ व हाथरस में बेचा था। हालांकि वह चोरी के पीतल की कीमत का आंकलन नहीं बता सकी।

खबरें और भी हैं...