सट्टेबाजी का पैसा न मिलने पर किया सुसाइड:आगरा में युवक ने लगाई फांसी, लिखा.. I Love You All, पैसा न दे तो करना शिकायत

आगराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाना कमलानगर क्षेत्र में युवक द्वारा फांसी लगाने के बाद पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गयी है - Dainik Bhaskar
थाना कमलानगर क्षेत्र में युवक द्वारा फांसी लगाने के बाद पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गयी है

आगरा में लगातार हो सट्टेबाजी के चलते एक और युवक ने आत्महत्या कर ली। मृतक ने सुसाइड नोट में चार लोगों को आरोपी बनाया है। पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर जांच में जुट गई है। कुछ समय पहले भी यहां एक दवा व्यवसायी ने सट्टे में पैसा फंसने के बाद वीडियो वायरल कर आत्महत्या कर ली थी।

सुसाइड नोट में सभी को आई लव यु बोलते हुए धन्यवाद दिया
सुसाइड नोट में सभी को आई लव यु बोलते हुए धन्यवाद दिया

जानकारी के मुताबिक, थाना कमलानगर क्षेत्र में जगह- जगह आईपीएल और ऑनलाइन सट्टेबाजी होती है। रोजाना सट्टेबाजी में लाखों रुपये के दांव लग जाते हैं। बड़े सफेदपोशों के शामिल होने कारण स्थानीय पुलिस भी कोई बड़ी कार्रवाई नहीं कर पाती है।

शनिवार को सट्टेबाजी के चलते एक युवक पर 1 लाख 70 हजार बकाया होने के बाद वापस न मिलने पर बल्केश्वर गंगेगौरी बाग स्थित आनन्द विहार कालोनी निवासी प्रतीक गुप्ता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सुबह जानकारी होने पर परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर आए थाना प्रभारी उत्तम चंद्र पटेल ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

दोस्तों ने ही सट्टेबाजी में फंसाया
दोस्तों ने ही सट्टेबाजी में फंसाया

एक पेज का मार्मिक सुसाइड नोट

मृतक प्रतीक ने एक पेज का सुसाइड नोट छोड़ा है। सुसाइड नोट में उसने लाखन पाठक पुत्र राजीव पाठक से 1 लाख 70 हजार रुपये वापस न मिलने और उसकी मां सरोज पाठक द्वारा उसे रोज टरकाने का आरोप लगाया है। उसने आशीष गुप्ता और मनुज नाम के दो अन्य युवकों पर उसे सट्टेबाजी में फंसाने का आरोप लगाया है।

दुःख के कारण परिजन बोलने के हालात में नहीं हैं
दुःख के कारण परिजन बोलने के हालात में नहीं हैं

मुझे माफ़ करना, I Love You All बन गए आखिरी शब्द

मराक प्रतीक गुप्ता ने अपने सुसाइड नोट के साथ उन लोगों की लिस्ट भी छोड़ी है, जिन्हें उसे पैसे देने हैं। उसने लखन द्वारा पैसे न देने पर कम्प्लेन करने को भी कहा है। सुसाइड नोट में उसने लिखा है - मुझे माफ़ करना मेरी मम्मी, दीदी और मेरे सभी छोटे और बड़े भाई जैसे दोस्त आप सभी ने मेरे इस जीवन में मेरा बहुत साथ दिया है।शालू दीदी, राहुल, मम्मी, मुकुल भाई, रॉयल्स 11 आई लव यू आल

पूरे प्रकरण में थाना प्रभारी उत्तम चंद्र पटेल का कहना है की परिजनों की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।