अलीगढ़ के खैर में चुनावी घमासान:आरएलडी ने भगवती प्रसाद सूर्यवंशी पर फिर जताया भरोसा; क्या दोहरा पाएंगे इतिहास

खैर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी व राष्ट्रीय लोकदल गठबंधन के साथ विधानसभा चुनाव लड़ रही है। गुरुवार को सपा-आरएलडी ने विधानसभा प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी की। अलीगढ़ की खैर विधानसभा सीट पर राष्ट्रीय लोकदल ने भगवती प्रसाद सूर्यवंशी को अपना उम्मीदवार बनाया।

भगवती प्रसाद पूर्व में भी रहे हैं विधायक

भगवती प्रसाद सूर्यवंशी वर्ष 2012 में राष्ट्रीय लोकदल की टिकट पर खैर विधानसभा से जीत दर्ज की थी। हांलाकि वर्ष 2017 में पार्टी ने भगवती प्रसाद सूर्यवंशी की जगह ओम पाल सूर्यवंशी को अपना प्रत्यासी बनाया लेकिन वह चुनाव हार गए। सूर्यवंशी ने पार्टी को छोड़ा नहीं और बराबर सक्रियता के साथ कार्य करते रहे। अब 2022 के विधानसभा चुनाव में पार्टी ने उन पर फिर से भरोसा जताते हुए उन्हें खैर विधानसभा से अपना उम्मीदवार बनाया है।

दलित वोटरों पर अच्छी पकड़

भगवती प्रसाद सूर्यवंशी की खैर विधानसभा में दलित वोटरों पर अच्छी पकड़ है। इसके चलते वह वर्ष 2012 में विधानसभा चुनाव जीते थे। इस बार दलित वोटरों की मांग पर आरएलडी ने फिर से भगवती प्रसाद को उम्मीदवार बनाया है।

राष्ट्रीय लोकदल का गढ़ माना जाता है खैर विधानसभा

विधानसभा चुनाव में जातीय समीकरण के आंकड़े को देखें तो खैर विधानसभा राष्ट्रीय लोक दल का गढ़ माना जाता है। खैर विधानसभा में अब तक सबसे अधिक राष्ट्रीय लोक दल के उम्मीदवार ही चुनाव जीते हैं तथा इस विधानसभा में सबसे अधिक मतदाता जाट समाज व किसान वर्ग का है। जिसका वोट सबसे अधिक राष्ट्रीय लोकदल को ही जाता है। वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में भगवती प्रसाद सूर्यवंशी ने बसपा प्रत्याशी को 42000 वोटों से मात देकर जीत दर्ज की थी।

खबरें और भी हैं...