अलीगढ़...AMU प्रोफेसर से 10 लाख मांगने वाले 3 गिरफ्तार:दी थी धमकी- अगर रुपए नहीं दिए, तो पूरे परिवार की कर देंगे हत्या

अलीगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की हिरासत में AMU की महिला प्रोफेसर सेफिरौती मांगने के आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस की हिरासत में AMU की महिला प्रोफेसर सेफिरौती मांगने के आरोपी।

AMU (अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी) की महिला प्रोफेसर से 10 लाख की रंगदारी मांगने वाले 3 आरोपियों को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने प्रोफेसर की कार के बोनट पर लिफाफे में पत्र और 315 बोर के 3 खोखे रखे थे। धमकी दी थी कि अगर रुपए नहीं दिए, तो उनके परिवार के सभी सदस्यों की हत्या कर देंगे। जिसके बाद पीड़ितों ने क्वार्सी थाने में मुकदमा दर्ज कराया था।

थाना पुलिस और सर्विलांस टीम कर रही थी जांच

क्वार्सी थाना क्षेत्र के अनूपशहर रोड स्थित सागर हाउसिंग कॉम्प्लेक्स निवासी शगुफ्ता मुईन AMU में कंप्यूटर साइंस की प्रोफेसर हैं। बुधवार को उनके पति नवेद मुख्तार ने तहरीर दी। उन्होंने कहा कि मंगलवार शाम वह परिवार के साथ बाहर निकले। उनकी कार के बोनट पर एक लिफाफा रखा था। लिफाफे में उनका नाम लिखा होने के कारण उन्होंने उसे खोलकर देखा। उसमें धमकी भरा पत्र व कारतूस के खोखे थे। उनसे रंगदारी मांगी गई थी।

प्रोफेसर का रिश्तेदार है आरोपी

शिकायत आने के बाद पुलिस ने थाना क्वार्सी व सर्विलांस टीम का गठन कर मामले की छानबीन शुरू की। जिसमें 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। उनके पास से बाइक, मोबाइल फोन, तमंचा बरामद हुए हैं। पूछताछ में पता चला कि पकड़ा गया एक आरोपी प्रोफेसर का रिश्तेदार है। उसने रुपए के लालच में यह काम किया है।

3 आरोपियों को पकड़ा, दो अब भी फरार

गिरफ्तार आरोपी दानिश निवासी चंदन शहीद रोड ऊपर कोट प्रोफेसर का भांजा है। उसने पुलिस को बताया कि डॉ. शगुफ्ता मुईन उसकी रिश्तेदारी में मौसी हैं। आर्थिक परेशानियों के चलते उसने अपनी मौसी से कई बार रुपए मांगे। लेकिन उन्होंने हर बार मना कर दिया।

कुछ महीने पहले उसका बेटा बीमार था। प्रोफेसर ने तब भी पैसा देने से मना कर दिया। जिसके बाद उसने रंगदारी मांगने की योजना बनाई। इसमें उसने अन्जेब पुत्र अकील रहमान, दीपक पुत्र दिलीप तिवारी, नवेद पुत्र मो. शकील और अदनान पुत्र अलीम को अपने साथ लिया।

दीपक ने इसके लिए एक फर्जी आईडी दानिश को दी। वहीं फरार आरोपी अदनान ने आवाज बदलकर लगातार पीड़ित को फोन कर 10 लाख रुपए की रंगदारी मांगी थी। पुलिस ने दानिश, अन्जेब और दीपक को गिरफ्तार कर लिया है। नावेद और अदनान अभी फरार हैं। इन सभी के खिलाफ पुलिस ने नामजद मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

दोनों आरोपियों की तलाश में पुलिस दे रही दबिश

एसपी सिटी कुलदीप गुनावत ने बताया कि 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी दोनों आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है। आरोपियों को पकड़ने वाली टीम में क्वार्सी इंस्पेक्टर विजय सिंह, सर्विलांस प्रभारी संजीव कुमार, सर्विलांस प्रभारी नगर क्षेत्र संदीप कुमार, एसआई विनोद कुमार, हेड कांस्टेबल अजीत कुमार, कांस्टेबल प्रमोद कुमार और सौरभ शामिल रहे।