8वीं का स्टूडेंट स्कूल की दूसरी मंजिल से कूदा:रील बनाई तो टीचर ने जमीन पर बैठाया, चुपचाप उठा और दौड़कर छलांग लगा दी

अलीगढ़2 महीने पहले

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में 8वीं कक्षा के छात्र ने स्कूल की दूसरी मंजिला से छलांग लगा दी। सिर के बल गिरने से बच्चे की हालत नाजुक है। स्कूल के डायरेक्टर SN सिंह ने बताया कि छात्र ने कुछ दिन पहले क्लास में दोस्तों के साथ रील बनाई थी। इसकी जानकारी होने पर टीचर ने उसे सजा देते हुए जमीन पर बैठा दिया।

जिस दिन यह जमीन पर बैठने की सजा मिली उस दिन छात्र का होमवर्क भी पूरा नहीं था, जिसे लेकर वह परेशान था। दोबारा सजा न मिले, इसी डर से क्लास से बाहर निकला और दौड़कर दूसरी मंजिल से कूद गया। घटना गुरुवार को बन्नादेवी थाना क्षेत्र के इंग्राहम स्कूल में हुई। इसका खुलासा शुक्रवार को हुआ।

अचानक उठा और रेलिंग से छलांग लगा दी
घटना का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। इसमें दिख रहा है कि दूसरी मंजिल पर क्लास में टीचर छात्रों की कॉपी चेक कर रही हैं। उनके बगल में दो छात्र फर्श पर बैठे हैं। इनमें से एक छात्र मयंक अचानक उठता है और रेलिंग से कूद जाता है।

मयंक के छलांग लगाते ही बाकी स्टूडेंट्स उसे देखने क्लास से दौड़ पड़े।
मयंक के छलांग लगाते ही बाकी स्टूडेंट्स उसे देखने क्लास से दौड़ पड़े।

टीचर और पांच छात्रों के बयान दर्ज
बन्नादेवी थाने के इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार ने बताया- छात्र होमवर्क न करने के कारण डरा हुआ था और उसने डर के कारण ही आत्महत्या की कोशिश की। मामले में टीचर और पांच छात्रों के बयान भी दर्ज किए गए हैं। छात्र जेएन मेडिकल कॉलेज के आईसीयू वार्ड में भर्ती है, जहां उसका इलाज चल रहा है।

स्कूल की इसी बिल्डिंग की दूसरी मंजिल से मयंक ने छलांग लगाई।
स्कूल की इसी बिल्डिंग की दूसरी मंजिल से मयंक ने छलांग लगाई।

उर्दू की क्लास चल रही थी, छात्र का होमवर्क अधूरा था
इंग्राहम स्कूल के डायरेक्टर एसएन सिंह ने कहा- क्लास में उर्दू की टीचर क्लास ले रही थीं। होमवर्क चेक करने के दौरान मयंक का कुछ होमवर्क अधूरा था। उसे काम पूरा करने को कहा गया और वह काम पूरा कर रहा था। अपना नंबर आता देख वह क्लास से उठकर बाहर आया और दूसरी मंजिल से बीच मैदान में छलांग लगा दी।

मयंक ने खुद क्यों छलांग लगाई, यह समझ में नहीं आ रहा है। CCTV में दिखाई दे रहा है कि मयंक अकेला क्लास से निकला और कूद गया। स्कूल स्टाफ से लेकर मयंक के साथियों के भी पुलिस ने बयान दर्ज किए हैं।

घटना के बाद जेएन मेडिकल कॉलेज में मौजूद बच्चे के पिता संजीव कुमार (दाहिने) व परिवार के अन्य सदस्य।
घटना के बाद जेएन मेडिकल कॉलेज में मौजूद बच्चे के पिता संजीव कुमार (दाहिने) व परिवार के अन्य सदस्य।

डायरेक्टर सिंह ने कहा- नीचे गिरने से छात्र के सिर में गंभीर चोट आई है। घटना के बाद क्लास में दूसरे छात्र शोर करने लगे। खिड़की से देखा तो मयंक ग्राउंड में खून से लथपथ पड़ा था। टीचर ने घटना की जानकारी बच्चे के परिजनों को दी, जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस और परिजनों को CCTV फुटेज दिखाया गया, फुटेज में छात्र खुद ही कूदता नजर आ रहा है।

स्कूल के डायरेक्टर SN सिंह ने बताया कि स्कूल स्टाफ के अलावा मयंक के साथियों के भी पुलिस ने बयान दर्ज किए हैं।
स्कूल के डायरेक्टर SN सिंह ने बताया कि स्कूल स्टाफ के अलावा मयंक के साथियों के भी पुलिस ने बयान दर्ज किए हैं।

पिता का आरोप- सीनियर छात्र और टीचर्स चिढ़ाते थे
मयंक के पिता संजीव कुमार सिंह ने बताया कि उन्हें घटना की जानकारी करीब 9 बजे मिली। उसके बाद वे फौरन स्कूल पहुंचे। संजीव ने आरोप लगाया कि स्कूल में खेलकूद प्रतियोगिता के लिए छात्रों का चयन हो रहा था। बेटे ने 5 दिन पहले बताया था कि उसने ट्रायल में बाजी मारी है। कुछ सीनियर छात्र व टीचर उससे इस बात पर चिढ़ते हैं। वह उसे रेस में शामिल होने से रोकना चाहते हैं।

उन्होंने कहा- स्कूल के खेल मैदान में अंतिम ट्रायल हो रहा था। जब वह वहां नहीं पहुंचा तो खेल टीचर ने उसके बारे में पूछा था। जबकि एक शिक्षिका और कुछ सीनियर उसे जाने नहीं दे रहे थे। इसी दौरान वह उनसे बचकर ट्रायल में शामिल होने के लिए भागा और उसे रोकने सीनियर भागे। इसी में वह गिरा है। उसने जानबूझकर छलांग नहीं लगाई। वह पुलिस से लिखित शिकायत करेंगे।

परिवार ने नहीं दी तहरीर

पुलिस ने बताया कि इस मामले में छात्र के परिवार की तरफ से कोई तहरीर नहीं मिली है।
पुलिस ने बताया कि इस मामले में छात्र के परिवार की तरफ से कोई तहरीर नहीं मिली है।

इंस्पेक्टर बन्नादेवी प्रदीप कुमार ने बताया कि बच्चा होमवर्क न करने के कारण डरा हुआ था और उसने डर के कारण ही आत्महत्या की कोशिश की। उन्होंने बताया कि इस बारे में शिक्षकों और पांच छात्रों के बयान भी दर्ज किए गए हैं। कूदने के कारणों को लेकर तथ्यों की जांच की जा रही है। परिवार की ओर से कोई तहरीर नहीं मिली है।

  • आपने खबर पढ़ ली। अब पोल में हिस्सा लेकर अपनी राय दे सकते हैं।