जमीरउल्लाह बोले, राज्यमंत्री का मदरसे में कराउंगा दाखिला:राज्यमंत्री रघुराज सिंह के बयान के बाद सपा के पूर्व विधायक ने किया पलटवार, बोले मदरसे में सिखाते हैं देश प्रेम

अलीगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राज्यमंत्री ठा. रघुराज सिंह के विवादित बयान के बाद सपा के पूर्व विधायक हाजी हमीरउल्लाह ने किया पलटवार - Dainik Bhaskar
राज्यमंत्री ठा. रघुराज सिंह के विवादित बयान के बाद सपा के पूर्व विधायक हाजी हमीरउल्लाह ने किया पलटवार

अलीगढ़ के दर्जाप्राप्त राज्यमंत्री ठा. रघुराज प्रताप के मदरसों को लेकर आए विवादित बयान के बाद समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक हाजी हमीरउल्लाह ने उन पर पलट वार किया है। पूर्व विधायक ने बयान जारी करते हुए कहा है कि आज केंद्र और राज्य दोनों जगह भाजपा की ही सरकार है। इससे अच्छा समय राज्यमंत्री के पास दूसरा नहीं हो सकता है, मदरसों को बंद कराने का। लेकिन जिस दिन उनका बस चला तो वह राज्यमंत्री का दाखिला मदरसे में जरूर कराएंगे। जिससे कि उनको पता चल सके, कि मदरसे के अंदर आतंकवादी की नहीं बल्कि इंसान बनाया जाता है।

मुल्क में कुर्बान होने का तरीका सिखाता है मदरसा

पूर्व विधायक हाजी जमीरउल्लाह ने मदरसों के अंदर दीनी तालीम दी जाती है और मनुष्य को इंसान बनाया जाता है। उन्होंने कहा कि मदरसे के अंदर दुनिया की तालीम दी जाती है। छोटे बड़े का अदब सिखाया जाता है। इसके साथ ही मदरसे के अंदर आने वाले विद्यार्थियों के अंदर देश प्रेम की भावना जाग्रत की जाती है, जिससे कि वह अपने देश के लिए हमेशा समर्पित रहे। उन्होंने कहा कि मदरसे में देश भक्ति सिखाई जाती है और बताया जाता है कि जरूरत पड़ने पर अपने देश के ऊपर कुर्बान हो जाया जाए। उन्होंने कहा कि मदरसे में सिर्फ इंसान और इंसान बनाया जाता है, इसलिए वह राज्यमंत्री का दाखिला इसमें जरूर कराएंगे। क्योंकि इसके बाद ही उन्हें मदरसे की सही सूरत पता चलेगी।

राज्यमंत्री बोले थे, मदरसे में बनते हैं आतंकवादी

दर्जाप्राप्त राज्यमंत्री ठा. रघुराज सिंह ने बुधवार को मदरसों को लेकर विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि मदरसे में आतंकवाद की ट्रेनिंग दी जाती है और यहां से आतंकवादी तैयार किए जाते हैं। उन्हें मौका मिला तो वह देश के सारे मदरसे बंद करवा देंगे। क्योंकि मदरसे से पढ़कर निकलने वाला आतंकी सोच का होता है और ISI एजेंट बनता है। एएमयू का पूर्व छात्र रहा आतंकवादी मन्नान वानी भी मदरसे का ही छात्र था। उन्होंने कहा था कि उत्तर प्रदेश में पहले 250 मदरसे थे, जो अब 22000 हो चुके हैं। इन सभी को और देश के सभी मदरसों को बंद करने के बाद ही देश में शांति होगी।

खबरें और भी हैं...