AMU वीसी बोले, धर्म बर्बरता की इजाजत नहीं देता:अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के वीसी प्रो. तारीक मंसूर ने की उदयपुर घटना की निंदा, की शांति अपील

अलीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
AMU वीसी प्रो. तारीक मंसूर ने उयदपुर में हुए हत्याकांड की निंदा की। - Dainik Bhaskar
AMU वीसी प्रो. तारीक मंसूर ने उयदपुर में हुए हत्याकांड की निंदा की।

राजस्थान के उदयपुर में टेलर की तालिबानी हत्या की अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) के वीसी ने निंदा की है। वीसी प्रो. तारीक मंसूर ने बयान जारी करते हुए कहा कि किसी भी देश का कानून या कोई भी धर्म इस तरह की बर्बरता की इजाजत नहीं देता है।

वीसी ने कहा कि उदयपुर में टेलर कन्हैया लाल की निर्मम हत्या ने पूरे देश को पूरे देश को स्तब्ध कर दिया है। पूरा देश इस घटना को देखकर हैरान है और ऐसी घटनाओं की निंदा कर रहा है। उन्होंने कहा कि यह घटना काफी दुर्भाग्यपूर्ण है।

इस्लामी सिद्धांतों को नहीं समझते कुछ लोग

AMU वीसी प्रोफेसर तारीक मंसूर ने कहा कि कुछ लोग बुनियादी इस्लामी सिद्धांतों को समझे बिना कानून को अपने हाथ में लेते हैं। किसी व्यक्ति को भयानक रूप से दंडित करते हैं और फिर इसका प्रयोग देश के सांप्रदायिक सद्भाव और सामाजिक भाईचारे को कमजोर करने के लिए करते हैं।

उन्होंने कहा कि किसी को इतनी भयानक तरीके से मार डालने का अधिकार न तो कानून देता है और न ही कोई धर्म ऐसी बर्बरता करने की इजाजत देता है। उन्होंने नागरिकों से अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखने और शांति बनाए रखने की अपील की। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कानून के अनुसार सख्त कार्रवाई की भी मांग की।

उदयपुर में दो कट्‌टरपंथियों ने की हत्या

राजस्थान के उदयपुर में मंगलवार को कट्‌टरपंथियों ने नुपुर शर्मा का समर्थन करने पर एक युवक की तालिबानी तरीके से हत्या कर दी। युवक दर्जी का काम करता था और दोनों आरोपी उसकी दुकान में कपड़े का नाम देने के बहाने गए थे।

जब मृतक उनका नाम ले रहा था तो दोनों ने उसके ऊपर चाकुओं से हमला करना शुरू कर दिया। जिसके बाद एक आरोपी उसे काट रहा था और दूसरा उसका वीडियो बना रहा था। दोनों आरोपियों ने वीडियो जारी करके इस हत्या की जिम्मेदारी भी ली। जिसके बाद देश भर से विभिन्न लोगों ने इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया दी है।