मडराक का नाम बदलने का विरोध जारी:पंचायत के गांव में गुस्साए लोगों ने निकाली रैली, ‘विधायक तेरी गुंडागर्दी, नहीं सहेंगे’ के लगाए नारे

अलीगढ़2 महीने पहले
गांव नौहटी का नाम बदलने के विरोध में प्रदर्शन करते ग्रामीण

अलीगढ़ के मडराक कस्बे का नाम बदलने के विरोध में ग्रामीण लगातार प्रदर्शन लगातार जारी है। मडराक ग्राम पंचायत के साथ इसमें आने वाले गांवों का भी भी नाम बदला जा रहा है। जिसके कारण लगातार पंचायत के गांवों में प्रदर्शन किए जा रहे हैं।

मडराक ग्राम पंचायत के गांव नौहटी में मंगलवार को लोगों ने गांव का नाम बदलने का जमकर विरोध किया। ग्रामीणों का कहना था कि जहां एक ओर मडराक कस्बे का पुराना इतिहास है। वहीं दूसरी ओर नौहटी गांव भी अपने अंदर कई विरासत छिपाए है। इसलिए इसका नाम बदलना गलत है।

बच्चे, बूढ़े और महिलाओं ने जमकर की नारेबाजी
बच्चे, बूढ़े और महिलाओं ने जमकर की नारेबाजी

कोल विधायक के खिलाफ हुई जमकर नारेबाजी

कस्बे का नाम बदलने के लिए अलीगढ़ के कोल विधायक अनिल पराशर ने प्रस्ताव भेजा है। उन्होंने कस्बे का नाम मडराक से बदलकर श्रीराम मडराक ग्राम पंचायत करने प्रस्ताव भेजा है। वहीं नौहटी गांव का नाम बदलकर जानकी नगर करने का प्रस्ताव भेजा गया है।

इसी को लेकर ग्रामीणों में गुस्सा है। जिसके चलते नारेबाजी करते हुए उन्होंने रैली निकाली। इस दौरान विधायक तेजी गुंडागर्दी नहीं चलेगी के जमकर नारे भी लगाए गए। लोगों ने कहा कि उन्हें गांव के नाम से कोई आपत्ति नहीं है। इसलिए जबरन तरीके से इसका नाम बदलना गलत है।

गांवों में हर दिन विरोध में निकाली जा रही हैं रैलियां
गांवों में हर दिन विरोध में निकाली जा रही हैं रैलियां

पंचायत के बाहर लगातार जारी है धरना

ग्राम पंचायत का नाम मडराक से बदलकर श्रीराम मडराक करने का प्रस्ताव भेजे जाने के विरोध में ग्रामीणों का प्रदर्शन लगातार जारी है। लोग गांव के बाहर ही टेंट लगाकर बैठे हैं और लगातार धरना दे रहे हैं। उनका कहना है कि जब तक इस निर्णय को वापस नहीं लिया जाएगा, उनका आंदोलन जारी लगातार रहेगा।

मडराक कस्बे में है रेलवे स्टेशन

अलीगढ़ के मडराक कस्बे का इतिहास आजादी के समय का होने के साथ ही इस गांव में रेलवे स्टेशन भी है। रेलवे स्टेशन का नाम भी मडराक गांव के नाम पर ही है। जिससे इस गांव की पहचान है। जिसके चलते गांव के लोग लगातार विरोध कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...