सनातन धर्म में नाम की होती है महिमा:अलीगढ़ में चल रही है भागवत कथा, शुक्रवार को सजेगी कृष्ण जन्म की झांकी

अलीगढ़2 महीने पहले
भागवत कथा के दौरान भगवान की महिमा का बखान करते कथा व्यास

सनातन धर्म में नाम की महिमा बहुत बड़ी होती है। नारायण नाम रखने से अजामिल जैसे दुष्टों का उद्धार हो गया था। तो अगर मनुष्य सच्चे मन से भगवान का नाम ही लेता है तो उसके सारे कष्ट दूर हो जाते हैं और उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है। यह बात बी दास कंपाउंड में चल रही भागवत कथा के दौरान स्वामी अमृतानंद महाराज ने कही।

महामंडलेश्वर डॉ अन्नपूर्णा भारती के सानिध्य में लगातार श्रीमद्भागवत महापुराण महाउद्घोष कथा जारी है। कथा के चौथे दिन गुरुवार को कथा व्यास स्वामी अमृतानंद महाराज ने सबसे पहले प्रहलाद चरित्र का वर्णन किया। उसके बाद अजामिल की कथा का वर्णन सुनाया। जिसमें उन्होंने भगवान के नाम लेने और इससे प्रताप का वर्णन किया।

नारायण का नाम लेने से हुआ कल्याण

कथा व्यास ने अजामिल नाम के ब्राह्मण की कहानी सुनाते हुए बताया कि उन्होंने जीवन में कभी कोई अच्छा काम नहीं किया था। लेकिन उसने अपने सबसे छोटे बेटे का नाम नारायण रखा था। अंतिम समय में जब अजामिल को लेने के लिए यमदूत आए तो वह घबरा गया।

यमदूतों को देखकर अजामिल अपने छोटे पुत्र नारायण का नाम लेकर चिल्लाया। जैसे उसने अंतिम समय में नारायण का नाम चिल्लाया उसी समय उसके कर्मों के आधार पर हरिदूत आए तथा अंतिम नारायण का नाम लेने के कारण दोनों ही यमदूतो में बड़ा सुंदर संवाद हुआ। अंतिम समय में भगवान का नाम लेने से उसके सारे पाप नष्ट हो गए।

कृष्ण जन्म में लुटाए जाएंगे उपहार

कथा के आयोजक अशोक पांडेय ने बताया कि भागवत कथा के पांचवे दिन शुक्रवार को कथा में श्रीकृष्ण जन्म की मनमोहक झांकी सजाई जाएगी। इस दौरान विभिन्न धार्मिक आयोजन होंगे और प्रभु के जन्म पर उपहार भी लुटाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि जन्मोत्सव की तैयारियों को लेकर सारे श्रद्धालु पूरे जोश के साथ तैयारियों में जुटे हुए हैं।

गुरुवार को कथा के दौरान चक्रवर्ती शर्मा, दिलीप त्रिपाठी, कामेश्वर प्रसाद गर्ग, उज्ज्वल वार्ष्णेय, अशोक ओम डेरी, संजय महाजन, कवि वेद प्रकाश मणि, सचिन शर्मा, हरिशंकर शर्मा, रोली अग्रवाल, पूनम अग्रवाल, इला गुप्ता, विनोद प्रकाश अग्रवाल, नवीन अग्रवाल, राजेंद्र चौधरी, गीता अरोड़ा, सुधा राठी, विमलेश उपाध्याय, सुभाष उपाध्याय, नीता अग्रवाल, पारुल चौधरी, कृष्णा कांत माथुर, आचार्य जित्तेंद्र, अभिषेक गुप्ता समेत बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...