गेहूं चोरी के शक में दलित युवक की हत्या:अलीगढ़ में गेहूं चोरी के शक में दंबगों ने की पिटाई, परिजनों ने तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया, एक आरोपी गिरफ्तार

अलीगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ित पक्ष की तहरीर पर पुलिस ने नामजद आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। - Dainik Bhaskar
पीड़ित पक्ष की तहरीर पर पुलिस ने नामजद आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

अलीगढ़ के हरदुआगंज थाना क्षेत्र में गेहूं चोरी के शक में दबंगों ने दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी। सूचना मिलने के बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंची थी। उसने शव का पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

मारपीट के बाद घोट दिया गला
मृतक रविन्द्र के परिजनों ने अपनी तहरीर में बताया कि नगरिया भूड़ जलाली निवासी राज बहादुर सिंह के घर से राजू, ललित, छविराम और करुआ ने गेहूं चोरी किया था। चोरी करने के बाद चारों युवक बुधवार को रविंद्र के पास मिलने आए थे। उन्होंने उससे बोला कि गेहूं पीसने देने जाना है। वे रविंद्र को अपने साथ लेकर गए। देर रात को रविन्द्र लौटकर घर आया। इसी दौरान गांव के राज बहादुर सिंह पुत्र छत्रपाल सिंह, अनुराग सिंह पुत्र राज बहादुर सिंह और राज बहादुर का भांजा शिब्बू उसके घर पर आ गए। उन्होंने रविन्द्र की लाठी डंडों से पिटाई की। उसके बाद उसका गला दबा दिया। जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार
घटना के वक्त गांव के कई लोग मौके पर मौजूद थे। लेकिन किसी ने कुछ नहीं बोला। पीड़ित पक्ष की तहरीर पर पुलिस ने राज बहादुर, अनुराग सिंह और शिब्बू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। इसमें से एक आरोपी राज बहादुर को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है। दो आरोपी अभी भी फरार चल रहे हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

5 माह पूर्व हुई थी युवक की शादी
रविन्द्र (22)की पांच महीने पूर्व शादी हुई थी। घटना के बाद युवक की पत्नी का रो रोकर बुरा हाल है। उसके घर में मातम पसरा हुआ है। वहीं दूसरी ओर पुलिस आरोपियों को पकड़ने के लिए जगह-जगह दबिश दे रही है।

खबरें और भी हैं...