पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मोदी के अलीगढ़ दौरे से पहले जिन्ना पर विवाद:भाजपा कार्यकर्ता AMU से जिन्ना की तस्वीर हटवाने पर अड़े, गांधी पार्क बस स्टैंड के टॉयलेट में लगा दी उनकी फोटो

अलीगढ़15 दिन पहले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 सितंबर को अलीगढ़ आ रहे हैं। इससे पहले अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) में लगी पाकिस्तान के जनक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पर विवाद बढ़ता जा रहा है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने रविवार शाम AMU से जिन्ना की तस्वीर हटवाने के लिए डीएस कालेज में प्रदर्शन किया। इसके बाद उन्होंने जिन्ना की तस्वीर पब्लिक टॉयलेट में लगा दी। यह भी कहा कि भारत के टुकड़े करने वाले जिन्ना की तस्वीर को AMU से हटाया जाए। इसके बाद यह मामला गर्माने लगा और इसका विरोध शुरू हो गया है।

पब्लिक टॉयलेट में जिन्ना की फोटो लगाता भाजपा कार्यकर्ता।
पब्लिक टॉयलेट में जिन्ना की फोटो लगाता भाजपा कार्यकर्ता।

भाजपा के युवा कार्यकर्ताओं ने किया विरोध
यह पूरा विरोध प्रदर्शन भाजपा के मंडल प्रवक्ता शिवांग तिवारी के नेतृत्व में किया गया। कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की और जिन्ना की तस्वीरें फाड़ दीं। कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में लगी जिन्ना की तस्वीर को हटाया जाए। इसके बाद कार्यकर्ताओं ने गांधी पार्क बस अड्‌डे पर जाकर पब्लिक टॉयलेट में जिन्ना की तस्वीर लगा दी। कुछ ही देर में यह तस्वीर वायरल होने लगी। प्रशासन को जैसे ही इसकी जानकारी मिली उन्होंने तत्काल फोटो को हटवाया।

तीन दिन पहले खून से लिखा था पत्र
भाजपा नेता शिवांग तिवारी के नेतृत्व में युवाओं ने 9 सितंबर को जिन्ना की तस्वीर के विरोध में प्रदर्शन किया था और खून से पत्र लिखकर प्रधानमंत्री से मांग की थी कि जिन्ना की तस्वीर को AMU से हटवाया जाए। प्रशासन ने युवाओं को यह आश्वासन दिया था कि उनकी मांगों को सरकार तक पहुंचाया जाएगा और उनके ज्ञापन को भी केंद्र सरकार तक भेजा जाएगा। इसके बाद भाजपा ने रविवार को दोबारा विरोध जताया।

सभी को किया नजरबंद, लेकिन घटना से इनकार करते रहे अधिकारी
घटना के बाद प्रदर्शन कर रहे भाजपा के युवा कार्यकर्ताओं से पुलिस प्रशासन ने संपर्क किया और उन्हें उनके घर में ही नजर बंद कर दिया गया। इसके साथ ही उन्हें हिदायत दी गई कि PM का कार्यक्रम पूरा होने तक वे घर से बाहर न निकलें। हालांकि, इस पूरे मामले में पुलिस या प्रशासन का कोई भी अधिकारी बयान देने से बचता रहा। गांधी पार्क थाने के SSI एसपी सिंह से इस बारे में बात की गई, लेकिन उन्होंने कहा कि उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं है और न ही कोई शिकायत आई है। उनका कहना था कि अगर ऐसी कोई घटना हुई है तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...