गंगा के किनारे लगाए जाएंगे पौधे:अलीगढ़ में डीएम ने जिला गंगा सुरक्षा समिति की बैठक में दिए निर्देश

अलीगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नदियों की साफ सफाई और उनकी स्वच्छता के लिए जिलाधिकारी ने अधिकारियों को दिए निर्देश - Dainik Bhaskar
नदियों की साफ सफाई और उनकी स्वच्छता के लिए जिलाधिकारी ने अधिकारियों को दिए निर्देश

गंगा की निर्मलता और अविरलता के लिए नदी के किनारे किनारे पौधा रोपण अभियान चलाया जाएगा और पौधे लगाए जाएंगे। नदी के किनारे जितने पेड़ पौधे होंगे, नदी उतनी की साफ सुथरी और पवित्र होगी। इसलिए पौधा रोपण का काम बेहतर तरीके से किया जाए। यह निर्देश जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने जिला गंगा सुरक्षा समिति के अधिकारियों को दिए।

डीएम ने जिला गंगा सुरक्षा समिति की बैठक की। इसमें प्रभागीय निदेशक, सामाजिक वानिकी दिवाकर वशिष्ठ ने जिला गंगा सुरक्षा समिति के दायित्वों जैसे सीवरेज ट्रीटमेंट इंफ्रास्ट्रक्चर, मॉनिटरिंग, नदी-सामने विकास, नदी-सतह की सफाई, जैव-विविधता, वनरोपण, जन जागरूकता, औद्योगिक बहिःस्राव निगरानी, गंगा ग्रामों के विकास पर विभिन्न जानकारियां दी।

नदी में गिरने वाले नालों की बनेगी सूची

डीएम ने बैठक के दौरान सभी विभागों को उनसे सम्बन्धित कार्यों को बेहतर ढ़ंग से पूरे करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही नगर पालिका, नगर पालिका परिषद के अधिशासी अधिकारियों और डीपीआरओ को नदियों में गिरने वाले नालों की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये। डीएम ने कहा कि नदी के किनारे पर साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए और नियमित निरीक्षण व साफ-सफाई की जाए। इसमें किसी तरह की लापरवाही न बरती जाए। पायलट प्रोजेक्ट के तहत किसी एक नदी या नहर के किनारे ग्रीनबेल्ट विकसित करने के लिये पौधों का चयन कर नगरपालिका व वन विभाग शीघ्र निरीक्षण कर कार्यवाही करें।

पौध रोपण के लिए स्थान किए जाएंगे चिन्हित

डीएम ने पंचायती राज विभाग को निर्देश दिए कि नदियो के किनारे स्थित गांवों का गंदा पानी नदियो में नहीं जाना चाहिए। इसके लिए अधिकारी कार्ययोजना तैयार कर वन विभाग को उपलब्ध करायें। इसके साथ ही लोक निर्माण विभाग सड़को पर उड़ रही धूल को रोकने की प्रभावी कार्यवाही करे। अभी से पौध रोपण के लिए स्थान चिन्हित करके इसकी सूची वन विभाग को उपलब्ध कराई जाए। पर्यावरणविद एवं समिति सदस्यों ने लोगों की आवश्यकताओं, प्रौद्योगिकी उन्नयन एवं गंगा किनारे बसे लोगों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए कार्ययोजना तैयार हो। पर्यावरणविद् सुबोध नन्दन शर्मा ने गंगा के पानी को स्वच्छ रखने के लिये गंगा किनारे बम्बू एवं जामुन के पेड़ लगाये जाने का सुझाव दिया। उन्होंने बताया कि अलीगढ़ की सीमा में सेंगर नदी जलकुम्भी से अटी पड़ी है। इसमें मनरेगा के माध्यम से सुधार कार्य कराएं जाएं।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अंकित खण्डेलवाल, डीडीओ भरत कुमार मिश्र, पीडी डीआरडीए भाल चन्द्र त्रिपाठी, डीपीआरओ धनंजय जायसवाल, आरओ पीसीबी, एक्सईएन जल निगम, समिति सदस्य ज्ञानेश शर्मा, नेकराम शर्मा समेत विभिन्न लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...