अंकुश-दुष्यंत की तलाश में गोवा, शिमला व चंडीगढ़ में दबिश:एटा के सीमेंट कारोबारी की 27 अक्टूबर को गोली मारकर कर दी थी हत्या, पुलिस कर रही तलाश

अलीगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एटा के कारोबारी की 27 दिसंबर को अलीगढ़ में गोली मारकर कर दी गई थी हत्या। पुलिस हत्या के मुख्य आरोपियों की तलाश में दे रही है दबिश - Dainik Bhaskar
एटा के कारोबारी की 27 दिसंबर को अलीगढ़ में गोली मारकर कर दी गई थी हत्या। पुलिस हत्या के मुख्य आरोपियों की तलाश में दे रही है दबिश

एटा के सीमेंट कारोबारी संदीप गुप्ता की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी ट्रांसपोर्टर अंकुश और उसके सहयोगी दुष्यंत की तलाश में पुलिस ने कार्रवाई तेज कर दी है। दोनों आरोपियों और कारोबारी की हत्या करने वाले शार्प शूटरों की तलाश में अलीगढ़ पुलिस अब गोवा, शिमला, चंडीगढ़ समेत कई राज्यों में दबिश मार रही है। इसके लिए एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कई टीमों का गठन किया है, जो अलग अलग राज्यों में जाकर कारोबारी की हत्या करने वालों की तलाश कर रही है। शुक्रवार को यह टीमें अलीगढ़ से रवाना हो गई जो अलग अलग राज्यों में फैल गई हैं और आरोपियों की तलाश कर रही हैं।

27 दिसंबर को हुई थी कारोबारी की हत्या

एटा के सीमेंट कारोबारी संदीप गुप्ता की 27 दिसंबर को अलीगढ़ की रामघाट रोड स्थित गांधी आर्इ हॉस्पिटल के सामने गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद पुलिस ने अपनी छानबीन में ट्रांसपोर्टर अंकुश को हत्याकांड का मास्टर माइंड पाया था और उसके पिता को गिरफ्तार करके जेल भेजा था। जांच में सामने आया था कि अंकुश ने कारोबारी से पारिवारिक और व्यापारिक रंजिश का बदला लेने के लिए उसकी हत्या का शड्यंत्र रचा था और इसमें उसके दोस्त दुष्यंत ने उसका साथ दिया था। दुष्यंत का हरदुआगंज में गैराज है और वह सारी घटना में शामिल था। जिसके बाद पुलिस इन दोनों के साथ घटना को अंजाम देने वाले तीनों शार्प शूटरों की तलाश कर रही है।

दोनों के ऊपर है 25-25 हजार का ईनाम

सीसीटीवी के जरिए घटना का खुलासा करने के बाद पुलिस ने जहां ट्रांसपोर्टर अंकुश के पिता राजीव अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया। वहीं दूसरी ओर पुलिस ने फरार चल रहे अंकुश और उसके मित्र दुष्यंत के ऊपर 25-25 हजार रुपए का ईनाम भी घोषित कर दिया है। पुलिस की टीमें दोनों आरोपियों और घटना को अंजाम देने वाले तीनों शूटरों की तलाश कर रही है। जिसके लिए टीमों को गैर प्रांत रवाना किया गया है।

दुष्यंत की तीन महीने बाद थी शादी

कारोबारी की हत्या करने में अंकुश का साथ देने वाले उसके मित्र दुष्यंत की अगले छह महीने में शादी होने वाली है। एक अच्छे व्यापारी परिवार में उसकी शादी तय हुई थी और विवाह की कुछ रस्में पूरी हो चुकी थी। लेकिन इस घटना में आरोपी होने के बाद जहां दुष्यंत फरार चल रहा है, वहीं उसके परिवार और लड़की के परिवार में मायूसी छा गई है।

पुलिस ने बनाए आरोपियों के स्केच

सीसीटीवी के आधार पर पुलिस ने सीमेंट कारोबारी के ऊपर हमला करने वाले तीनों आरोपियों के स्केच तैयार कर लिए हैं। जिसके आधार पर सभी आरोपियों की तलाश की जा रही है। वहीं ट्रांसपोर्टर और उसके मित्र दुष्यंत की भी फोटो जारी कर दी गई है। जिससे के सभी आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जा सके।

वहीं एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि आरोपियों की तलाश जारी है। जल्दी ही सभी आरोपी पुलिस की हिरासत में होंगे।

खबरें और भी हैं...