हिजाब के समर्थन में एएमयू में निकाला गया मार्च:अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में छात्र छात्राओं ने किया हिजाब का समर्थन

अलीगढ़एक वर्ष पहले
अलीगढ़ के एएमयू में छात्र छात्राओं ने हिजाब प्रकरण के विरोध में निकाला मार्च।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का माहौल एक बार फिर गरमाने लगा है और इस बार इसका कारण केरल में हिजाब से जुड़ी घटना है। केरल हिजाब प्रकरण के विरोध में शुक्रवार को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में विरोध मार्च निकाला गया। हजारों की संख्या में छात्र छात्राएं एएमयू कैंपस के अंदर एकत्रित हुए और हाथों में विरोध मार्च की तख्तियां लेकर उन्होंने मार्च निकाला। एएमयू के अंदर मार्च निकालते हुए वह बाब-ए-सैयद गेट तक पहुंचे और यहां पर उन्होंने जमकर नारेबाजी की। छात्र छात्राओं का कहना था कि राजनैतिक लाभ लेने के लिए पार्टियां लगातार इस तरह के प्रकरण उठाती हैं और अपनी सत्ता की रोटी सेंकती हैं। लेकिन अब लोग उनके बहकावे में नहीं आएंगे। इस तरह की सोच का लगातार विरोध किया जाएगा।

एएमयू के बाब-ए-सैयद के अंदर धरने पर बैठे छात्र
एएमयू के बाब-ए-सैयद के अंदर धरने पर बैठे छात्र

जुमे की नमाज के बाद निकाला मार्च

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में पहले 9 मार्च को विरोध प्रदर्शन कर मार्च निकाला जाना था। लेकिन चुनाव के चलते विद्यार्थियों ने 9 को होने वाले मार्च को रद्द कर दिया था और सिर्फ कुछ छात्र ही इकट्‌ठा हुए थे और उन्होंने शुक्रवार को होने वाले मार्च की रणनीतियां तैयार की थी। जिसके बाद सभी छात्र छात्राएं शुक्रवार को यूनिवर्सिटी में एकत्रित हुए। जुमे की नमाज अदा करने के बाद छात्रों ने अपना मार्च निकालना शुरू किया और नारेबाजी करते हुए एएमयू के बाब-ए-सैयद तक पहुंचे। यहां सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें कैंपस के अंदर ही रोक दिया। जिसके बाद सभी छात्र गेट के अंदर बैठ गए और जमकर नारेबाजी करके अपना विरोध जताया।

अल्लाह हू अकबर के लगे नारे

अपने विरोध प्रदर्शन के दौरान छात्र छात्राओं ने एएमयू के अंदर अल्लाह हू अकबर और नारे तकबीर के जमकर नारे लगाए। छात्र छात्राओं का कहना था कि हिजाब उनके धर्म से जुड़ा हुआ है और यह घटना उनकी धार्मिक भावनाओं का आहत पहुंचाने वाली है। इसलिए जब तक ऐसी घटनाओं को रोका नहीं जाएगा, उनका विरोध प्रदर्शन लगातार जारी रहेगा। वह इसका विरोध लगातार करते रहेंगे।

हिजाब प्रकरण का विरोध करती छात्राएं
हिजाब प्रकरण का विरोध करती छात्राएं

पर्दे को रखेंगे, हर जगह हिजाब में जाएंगी लड़कियां

एएमयू में विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने सत्ताधारी पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा यूपी के चुनाव आते ही इस तरह के प्रकरण के जरिए राजनैतिक लाभ लेना चाहती है। छात्रों ने कहा कि आज सत्ताधारी पार्टियां विकास की बात नहीं कर रही हैं, बल्कि हिंदू मुस्लिम करके अपना उल्लू सीधा करना चाहती हैं। लेकिन वह उनकी इस नीति का विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि वह अपने यहां पर्दे को जारी रखेंगे ओर उनकी लड़कियां हिजाब पहनकर ही स्कूल, कालेज और यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करने जाएंगी।

छात्रों का कहना था कि अगर जल्दी ही इन सारी गतिविधियों को न रोका गया तो सभी दिल्ली के जंतर मंतर पर जाकर अपना विरोध प्रदर्शन करेंगे और अनिश्चित कालीन धरना देंगे।

एएमयू में एलर्ट रहे सुरक्षा कर्मी

छात्रों के विरोध मार्च को देखते हुए एएमयू के अंदर इंतजामिया भी पूरी तरह से एलर्ट रहा। एएमयू प्रॉक्टर और उनकी प्रॉक्टोरियल टीम मुख्य के साथ चप्पे चप्पे पर सुरक्षा कर्मी मौजूद रहे और छात्रों की हर गतिविधियों पर नजर रखते रहे। टीम ने छात्रों को शांतिपूर्ण ढ़ंग से अपना विरोध करने और मांग रखने के निर्देश दिए। जिसके बाद टीम वहां से रवाना हो गई। इसके बाद छात्र छात्राओं ने देश के राष्ट्रपति के नाम अपना ज्ञापन भेजते हुए विभिन्न मांगे की हैं।