• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Aligarh
  • In The First Phase, Voting Is To Be Held On February 10, On This Day The Dedication Is Also Intensified, People Are Changing The Date Due To Elections.

UP में मतदान के कारण टल रहीं शादियां:पहले चरण में 10 फरवरी को होना है चुनाव, अलीगढ़ में 200 में से 55 शादियों की डेट बदली

अलीगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यूपी में 10 फरवरी को पहले चरण का मतदान है। इस दिन विवाह शादियों की लगन भी काफी तेज है। लेकिन मतदान का दिन होने के कारण लोग शादियों की तिथि में परिवर्तन कर रहे हैं। - Dainik Bhaskar
यूपी में 10 फरवरी को पहले चरण का मतदान है। इस दिन विवाह शादियों की लगन भी काफी तेज है। लेकिन मतदान का दिन होने के कारण लोग शादियों की तिथि में परिवर्तन कर रहे हैं।

यूपी में विधानसभा चुनाव के कारण बेटियों का कन्यादान टलने की नौबत आ गई है। पहले चरण में 10 फरवरी को मतदान है। उधर, 10 फरवरी को शादी विवाह की लगन भी काफी तेज है, लेकिन चुनाव को देखते हुए लोग इस दिन शादियां टालकर दूसरे मुहूर्त में देख रहे हैं। सिर्फ अलीगढ़ जिले की बात करें तो इस दिन 200 से ज्यादा शादियां होनी थी, जिसमें से 55 से ज्यादा लोगों ने शादी की दूसरी डेट रख ली है।

पहले चरण में 11 जिलो में होने हैं चुनाव
चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश में सात चरणों में चुनाव की घोषणा की है। पहले चरण में 10 फरवरी को 11 जिलों की 58 विधानसभा सीटों पर मतदान है। अलीगढ़ में भी पहले चरण में 10 फरवरी को वोट डाले जाएंगे।

2021 से ज्यादा हैं इस साल विवाह मुहूर्त
ज्योतिषाचार्य पं. हृदयरंजन शर्मा ने बताया कि वर्ष 2021 की तुलना में इस साल शादी-विवाह के मुहूर्त ज्यादा हैं। 2021 में सिर्फ 57 विवाह मुहूर्त थे, जबकि 2022 में 58 दिन विवाह शादियों के शुभ मुहूर्त पड़ रहे हैं। इस साल विवाह 20 जनवरी से शुरू हो रहे हैं। जनवरी, फरवरी, अप्रैल, मई, जून और जुलाई में विवाह के शुभ मुहूर्त हैं। इसके बाद अगस्त, सितंबर और अक्टूबर में कोई भी मुहूर्त नहीं हैं। तीन महीने के बाद नवंबर में देव उठनी एकादशी से दोबारा लगन शुरू होंगी। चार नवंबर को देव उठनी एकादशी है, जिससे शादियां शुरू हो जाएंगी। इसके बाद नवंबर में सिर्फ एक ही शुभ मुहूर्त है, जो 28 नवंबर को पड़ेगा। दिसंबर में सिर्फ 6 मुहूर्त हैं, जिसके बाद 2023 में ही बैंड बाजा बजेगा।

महामारी के कारण हैं पाबंदियां
कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों के बाद सरकार ने महामारी से बचाव के लिए गाइडलाइन जारी कर दी है। इसमें शादी विवाह जैसे समारोहों में भी सीमित लोगों की पाबंदियां तय कर दी गई हैं। इससे कि एक जगह पर ज्यादा लोगों की भीड़ जमा न हो और महामारी को बढ़ने से रोका जा सके। वहीं, चुनाव की वजह से लोग बरात में शामिल नहीं हो पाएंगे, इस वजह से भी डेट टाली जा रही है।

ये हैं 2022 के विवाह मुहूर्त

  • जनवरी 2022 - 20, 22, 23, 27, 29, 30
  • फरवरी 2022 - 4, 5, 6, 7, 10, 18, 19, 20
  • अप्रैल 2022 - 19, 20, 21, 22, 23, 24, 27
  • मई 2022 - 2, 3, 4, 9, 10, 12, 18, 20, 21, 24, 26, 27,
  • जून 2022 - 1, 5, 6, 8, 10, 11, 14, 17, 20, 21, 22, 23
  • जुलाई 2022 - 3, 6, 7, 8, 9
  • नवंबर 2022 - 4 नवंबर (देव उठनी एकादशी), 28 नवंबर
  • दिसंबर 2022 - 2, 3, 4, 7, 8, 9

मैरिज होम संचालक बोले
मैरिज होम संचालक विपिन सक्सेना ने बताया कि चुनाव के कारण मैरिज होम में काफी ज्यादा बुकिंग कैंसिल हुई हैं। मतदान के दिन लोग शादी करने से कतरा रहे हैं और दूसरे दिन का मुहूर्त देख रहे हैं। कई लोगों ने एडवांस बुकिंग के बाद भी तारीखें बदली हैं। मैरिज होम संचालक शरद कुमार ने बताया कि 10 फरवरी को लगभग 200 मैरिज होम और धर्मशालाओं में बुकिंग थी। काफी जगह से सूचनाएं आई हैं कि लोगों ने मतदान का दिन होने के कारण अपनी बुकिंग कैंसिल कराई है। मैरिज होम के साथ ही डीजे, कैटर्स की बुकिंग भी रद्द की गई हैं।

क्या कहते हैं ज्योतिषाचार्य

पूर्णानंदपुरी महाराज, महामंडलेश्वर
पूर्णानंदपुरी महाराज, महामंडलेश्वर

पूर्णानंद पुरी महाराज ने बताया कि चुनाव के दिन आने जाने में पाबंदिया होती हैं। वहीं, महामारी के कारण भी सीमित लोग ही समारोह में शामिल हो सकते हैं। 10 फरवरी को मतदान होने के कारण काफी लोगों ने अपनी शादी की डेट में बदलाव किया है।

पं. हृदयरंजन शर्मा, ज्योतिषाचार्य
पं. हृदयरंजन शर्मा, ज्योतिषाचार्य

पं. हृदयरंजन शर्मा ने बताया कि 10 फरवरी को लगन काफी तेज है और मुहूर्त भी काफी शुभ है। लोगों ने महीनों पहले से इसकी तैयारियां कर रखी थी। मतदान की तिथि निर्धारित होने के बाद काफी यजमानों ने डेट बदल दी है।