डिप्रेशन में एडवोकेट ने की आत्महत्या:कमरे में बंद कर कनपटी में मारी गोली, सुसाइड नोट में लिखा- परिजनों को जांच में परेशान न करना

अलीगढ़10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आत्महत्या के बाद मौके पर पहुंचे सीओ प्रथम राघवेंद्र सिंह और अन्य पुलिस अधिकारी। - Dainik Bhaskar
आत्महत्या के बाद मौके पर पहुंचे सीओ प्रथम राघवेंद्र सिंह और अन्य पुलिस अधिकारी।

अलीगढ़ के क्वार्सी थाना क्षेत्र के विष्णुपुरी इलाके में एडवोकेट ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। दोपहर लगभग दो बजे एडवोकेट अपने कमरे में गए थे। अंदर से कमरा बंद कर एक घंटे बाद कनपटी पर तमंचे से गोली मार ली। घटना के समय मृतक की पत्नी और बेटे नहीं थे। परिवार के अन्य लोगों ने जब गोली की आवाज सुनी तो वह दौड़ पड़े। दरवाजा अंदर से बंद था। उन्होंने दरवाजा तोड़ा तो अंदर शव पड़ा था। सूचना पर क्वार्सी पुलिस पहुंची और जांच शुरू की।

विष्णुपुरी निवासी आशीष कौशल (50) पुत्र महेंद्र कुमार कौशल सीनियर एडवोकेट थे और अलीगढ़ में ही प्रैक्टिस करते थे। विष्णुपुरी स्थित मकान में पत्नी, भाई और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ रहते थे। पत्नी टीचर हैं और बेटा जिले के बाहर रहता है। गुरुवार को जब उन्होंने आत्महत्या की, उस समय पत्नी स्कूल गई थी। परिजनों ने बताया कि एडवोकेट मानसिक रूप से परेशान चल रहे थे, इससे उन्होंने ऐसा कदम उठाया है।

सुसाइड नोट में डिप्रेशन को बताई वजह
आत्महत्या करने के पहले एडवोकेट ने एक सुसाइड नोट भी लिखा है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि वह अपने पूरे होश हवास में आत्महत्या कर रहे हैं। इसमें उनके परिवार या किसी अन्य का कोई लेना देना नहीं है। जाचं के नाम पर परिजनों को परेशान न करने की अपील की है। नोट में उन्होंने यह भी लिखा है कि वे डिप्रेशन के मरीज थे और अपनी बीमारी के कारण काफी परेशान चल रहे थे।

घटना की जानकारी के बाद मौके पर पहुंचे एडवोकेट।
घटना की जानकारी के बाद मौके पर पहुंचे एडवोकेट।

फॉरेंसिक टीम ने साक्ष्य जुटाए
घटना की जानकारी मिलने पर बड़ी संख्या में एडवोकेट और बार संघ के पदाधिकारी मौके पर पहुंच गए। क्वार्सी थाना प्रभारी विजय सिंह और सीओ प्रथम राघवेंद्र सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने मामले की जांच शुरू की। फॉरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर साक्ष्य जुटाए, इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

क्वार्सी थाना प्रभारी विजय सिंह ने बताया कि एडवोकेट ने सुसाइड नोट में बीमारी से परेशान होकर यह कदम उठाने की बात लिखी है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

खबरें और भी हैं...