हथियार बंद लुटेरों ने घर में घुसकर की लूट:अलीगढ़ के गांधीपार्क थाना क्षेत्र की घटना, पुलिस घटना को मान रही संदिग्ध

अलीगढ़10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल में इलाज कराता राधेश्याम - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल में इलाज कराता राधेश्याम

अलीगढ़ के गांधीपार्क थाना क्षेत्र में देर रात बाइक सवार हथियार बंद लुटेरों ने घर में घुसकर लूट की घटना को अंजाम दिया। पीड़ितों का आरोप है कि लुटेरे घर के अंदर घुस आए और तमंचे के बल पर घर में रखे एक लाख रुपए और महिला की सोने की चेन और कानों के कुंडल लूट लिए। जब घर में खाना खा रहे परिवार के लोगों ने इसका विरोध किया तो उन्होंने मारपीट शुरू कर दी और तमंचे की बट मारकर परिवार के दो लोगों को घायल कर दिया। लूट करने के बाद आरोपी वहां से भाग निकले, जिसके बाद परिवार जनों ने इसकी सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी। घटना की जानकारी मिलने पर पहुंची डायल 112 की पीआरवी ने घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। वहीं पुलिस अधिकारी घटना को संदिग्ध मानकर मामले की जांच कर रहे हैं।

घायल होने वाले दोनों संबंधी खा रहे थे खाना

जानकारी के अनुसार राधेश्याम पुत्र हरप्रसाद बाबा कालोनी के रहने वाले हैं। उनके बेटे सोनू की शादी एटा जनपद के गिदाई निवासी उपेंद्र की पुत्री राजबाला के साथ तय हुई है। राजबाला के चाचा मुकेश राधेश्याम के मुहल्ले में ही घर से थोड़ी दूरी पर रहते हैं। मुकेश की क्वार्सी चौराहे पर कपड़े की दुकान है और दोनों परिवारों के बीच काफी अच्छा तालमेल है। बेटे की शादी के चलते राधेश्याम अपने घर में निर्माण कार्य करा रहे हैं और बुधवार को उनके घर पर लेंटर डाला गया था। जिसके चलते मुकेश ने राधेश्याम को अपने घर पर खाना खाने के लिए बुलाया था। राधेश्याम के साथ उनके संबंधी धर्मवीर पुत्र भुल्लन सिंह भी थे, जो मुकेश के घर पर खाना खाने गए थे। दोनों घर में खाना खा रहे थे और मुकेश की पत्नी उन्हें खाना खिला रही थी, तभी बाइक सवार लुटेरों ने घर में घुसकर घटना को अंजाम दिया।

जिला अस्पताल में भर्ती राधेश्याम का संबंधी धर्मवीर
जिला अस्पताल में भर्ती राधेश्याम का संबंधी धर्मवीर

राधेश्याम व धर्मवीर को पुलिस ने कराया भर्ती

पीड़ित ने बताया कि बाइक सवार लुटेरों ने विरोध करने पर उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। एक बदमाश ने तमंचे की कट से राधेश्याम के सिर पर प्रहार किया, जिससे उनका सर फट गया और वह घायल हो गए। वहीं उनके संबंधी धर्मवीर को भी चोटें आई हैं। घटना को अंजाम देने के बाद लुटेरे वहां से भाग निकले, जिसके बाद पीड़ितों ने पुलिस को तहरीर दी।

पुलिस मान रही घटना को संदिग्ध

इंस्पेक्टर गांधी पार्क बंशीधर पांडेय ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है, लेकिन प्रारंभिक तौर पर घटना संदिग्ध प्रतीत हो रही है। राधेश्याम के एक अन्य रिश्तेदार भी पड़ोस में रहते हैं, जिसने झगड़े की बात सामने आ रही है। आपसी झगड़े में ही पीड़ित को चोटें आ गई हैं। लेकिन अभी तक पीड़ित पक्ष की तहरीर नहीं मिली है। उन्होंने बताया कि तहरीर मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।