24 जनवरी को होगी संजीव राजा मामले की सुनवाई:अलीगढ़ की कोर्ट से 23 साल पुराने मामले में विधायक संजीव राजा को हुई थी सजा

अलीगढ़9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विधायक संजीव राजा के मामले में सुनवाई के लिए 24 जनवरी की मिली तारीख - Dainik Bhaskar
विधायक संजीव राजा के मामले में सुनवाई के लिए 24 जनवरी की मिली तारीख

अलीगढ़ के शहर विधायक संजीव राजा के मामले में अब 24 जनवरी को हाईकोर्ट में सुनवाई होगी। उच्च न्यायालय ने उनकी याचिका पर सुनवाई करते हुए उन्हें अगले सप्ताह की तारीख दे दी है। अलीगढ़ शहर विधानसभा सीट से सिटिंग विधायक संजीव राजा को 23 साल पुराने एक मामले में अलीगढ़ की एमपी एलएलए कोर्ट से दो साल की सजा सुनाई है। इस मामले में उन्हें तत्काल जमानत भी मिल गई थी, जिसके बाद उन्होंने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी।

17 नवंबर 1999 में दर्ज हुआ था मुकदमा

भाजपा विधायक संजीव राजा पर 17 नवंबर 1999 को बन्नादेवी थाना क्षेत्र में मुकदमा दर्ज किया गया था। जिसमें उन पर ट्रक को जबरन नो पार्किंग में घुसाने और ऑन ड्यूटी सिपाही के साथ मारपीट करने का आरोप था। जिसके बाद इस मामले में सुनवाई करते हुए अलीगढ़ की एमपी एलएलए कोर्ट ने उन्हें दोषी पाया था और 18 नवंबर 2021 को उन्हें दो साल की सजा सुनाई थी।

शहर विधानसभा पर नहीं हुआ फैसला

भाजपा ने पहले चरण के चुनावों के लिए अलीगढ़ की 7 में से 6 सीटों पर अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। सिर्फ शहर विधानसभा सीट पर अभी प्रत्याशी की घोषणा नहीं की गई है। इसके पीछे यह माना जा रहा है कि सिटिंग विधायक संजीव राजा की सजा और न्यायालय में उनकी अपील को देखते हुए पार्टी यह निर्णय नहीं ले पा रही है। सोमवार को कयास लगाए जा रहे थे कि पार्टी इस मामले में अपना फैसला लेते हुए प्रत्याशी के नाम पर मुहर लगा देगी। लेकिन सोमवार को भी टिकट फाइनल नहीं हो सकी है।

संजीव राजा ने नामांकन पत्र खरीदा

शहर विधानसभा सीट पर जहां भाजपा में खींचतान मची हुई है। वहीं विधायक संजीव राजा ने सोमवार को नामांकन पत्र खरीदा है। उनके साथ ही विनय मोबाइल ने भी खुद को भारतीय जनता पार्टी के टिकट का दावेदार बताते हुए सोमवार को नामांकन पत्र खरीदा। पूरे दिन पार्टी का फैसला न आने के बाद अब सभी की निगाहें हाईकमान के फैसले पर टिकी हुई हैं।

खबरें और भी हैं...