पशु व्यापारी की हत्या में पत्नी समेत नौ पर मुकदमा:पिता की तहरीर पर सिविल लाइंस थाना पुलिस ने नौ के खिलाफ दर्ज किया है मुकदमा

अलीगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पशु व्यापारी की हत्या के बार परिवार जनों ने देर शाम शव सड़क पर रखकर लगाया था जाम - Dainik Bhaskar
पशु व्यापारी की हत्या के बार परिवार जनों ने देर शाम शव सड़क पर रखकर लगाया था जाम

अलीगढ़ में पशु व्यापारी की हत्या में पुलिस ने पशु व्यापारी की पत्नी समेत नौ लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया है। पिता की तहरीर पर सिविल लाइंस थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है और मामले की जांच शुरू कर दी है। हालांकि पुलिस की जांच में हत्या में ससुराल पक्ष की सीधे सीधे कोई भूमिका अभी तक सामने नहीं आई है। पुलिस हत्यारे की कॉल डिटेल खंगाल रही है। जिसमें पुलिस यह देखने की कोशिश कर रही है कि हत्या किसी साजिश के तहत हुई है और मृतक के ससुराल पक्ष के लोग क्या हत्यारे के संपर्क में हैं।

पत्नी व आठ साले हैं नामजद

मृतक पशु व्यापारी कमाल के पिता ने पत्नी व आठ सालों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया है। जिसमें पुलिस ने तहरीर के आधार पर पत्नी फरमाना और मृतक के सराय मियां निवासी आठ साले कदीर, शकील, वसीम, सलीम, मुस्तकीम, रफीक, नईम व कलीम को नामजद किया है।

मृतक का पत्नी से हुआ था विवाद

पुलिस ने मृतक की पत्नी फरमाना समेत आठ सालों को नामजद किया है। पिता ने आरोप लगाया है कि मृतक का चार दिन पहले अपनी पत्नी फरमाना के साथ विवाद हुआ था। जिसके बाद वह अपने मायके चली गई थी। उसी समय फरजाना ने अपने पति को जान से मरवाने की धमकी दी थी। तहरीर में आरोप है कि बहू के कहने पर उसके भाइयों ने ही हत्या की साजिश रची है। पीड़ित पति की तहरीर पर पुलिस ने सभी को नामजद किया है और मामले की जांच की जा रही है।

एसएसपी ने देर रात ही जांचे थे कैमरे

पशु व्यापारी की हत्या के बाद से ही पिता ने ससुराल जनों पर हत्या का आरोप लगा दिया था। वहीं घटना की जानकारी मिलने पर एसएसपी कलानिधि नैथानी भी शुक्रवार देर रात मौके पर पहुंच गए थे। जिसके बाद उन्होंने घटना के सारे तथ्यों की जांच करने के लिए देर रात ही कंट्रोल रूम जाकर सारे मामले की जांच की थी। सूत्रों की माने तो एसएसपी देर रात कमांड कंट्रोल सेंटर पहुंचे थे। जिसके बाद उन्होंने नगर निगम स्थित कंट्रोल सेंटर पहुंचकर सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग देखी थी। त्योहार के कारण उस समय कंट्रोल सेंटर से स्टाफ गायब था, जिसके बाद उन्होंने खुद ही सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग चेक करी थी। एसएसपी ने खुद ही कार का नंबर ट्रेस करते हुए टीमों को लगाया था, जिसके कुछ घंटे बाद ही आरोपी और घटना के समय प्रयुक्त कार को पकड़ लिया गया था।

आरोपी बोला, गलत फहमी में मारी गोली

पशु व्यापारी की हत्या के आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने गलत फहमी में मृतक को गोली मारी है। आरोपी ने बताया कि वह अतरौली के बड़ौली गांव का रहने वाला है। वह प्रॉपर्टी डीलर का काम करता है और अपने रुपयों का तगादा करने के लिए अलीगढ़ आया था। उसने नरौला 12 नंबर के पास से शराब खरीदी थी और शराब पीता हुआ अलीगढ़ आया था। यहां आकर उसने अपने दोस्त को बुलाया और फिर यहां केला नगर में नॉनवेज खाया था। इसके बाद जब वह लौट रहा था तो उसकी गाड़ी में किसी ने टक्कर मारी और उन दोनों की बहस भी हुई। फिर वह वहां से चला गया।

इसके बाद जब वह मैरिस रोड चौराहे पहुंचा तो पशु व्यापारी की गाड़ी खड़ी हुई थी और आरोपी को ऐसा लगा कि उसकी गाड़ी में टक्कर मारने वाला व्यक्ति वही है। जब उसने पशु व्यापारी से बातचीत की तो उसने गाली गलौज शुरू कर दी। जिसके बाद आरोपी ने पशु व्यापारी को गोली मार दी।

सीसीटीवी में कैद है सारा घटना क्रम

एसएसपी कलानिध नैथानी ने बताया कि सारी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद है। घटना के बाद से ही सारी वारदात रोडरेज की निकलकर आ रही थी। लेकिन मृतक के परिवार जन ससुराल पक्ष के ऊपर आरोप लगा रहे थे। एसएसपी ने बताया कि नामजदों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और मामले की विस्तृत जांच की जा रही है। वहीं हत्या के अरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

खबरें और भी हैं...