सिपाही की सरकारी बंदूक से चली गोली, 4 घायल:अलीगढ़ में हुआ हादसा; फायर जमीन की ओर हुआ, छर्रे जमीन से टकराने के बाद लड़कों को लगे

अलीगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल में इलाज कराने पहुंचे चारों घायल। - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल में इलाज कराने पहुंचे चारों घायल।

अलीगढ़ के देहलीगेट थाना क्षेत्र में शनिवार रात एक बड़ा हादसा होते-होते रह गया। थाना क्षेत्र में तैनात एक सिपाही की सरकारी बंदूक से अचानक फायर हो गया, जिससे वहां मौजूद 4 किशोर घायल हो गए। घायलों को पुलिस ने तत्काल इलाज के लिए मलखान सिंह जिला अस्पताल भेजा। बंदूक का मुंह जमीन की ओर था, जिससे फायर जमीन की ओर हुआ और छर्रे जमीन से टकराने के बाद किशोरों के लगे। जिससे उनकी जान तो बच गई, लेकिन शरीर में कई जगह छर्रे लगने के कारण वह घायल हो गए। घटना के बाद पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे और मामले की जांच शुरू की है।

देहलीगेट थाने के बाहर हुई घटना

लोगों के मुताबिक शनिवार देर रात देहलीगेट थाना क्षेत्र के बाहर ड्यूटी पर तैनात एक सिपाही अपनी सरकारी बंदूक के साथ खड़ा था। हर दिन की तरह थाने के आसपास इलाके के लड़के भी खड़े हुए थे। रात 10:15 बजे के आसपास अचानक सिपाही की बंदूक से फायर हो गया। बंदूक का मुंह जमीन की ओर था और गोली चलने के बाद छर्रे जमीन से टकराने के बाद वहां पर खड़े देव सांवरिया, अंश सावरिया, चिंटू और सुमित के जा लगे। गोली के छर्रे लगे के बाद वहां चीख पुकार मच गई और लोगों में हड़कंप मच गया। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग और पुलिस कर्मी वहां जमा हो गए और घायलों को तुरंत अस्पताल भेजा गया।

लोगों ने पुलिस पर लगाया लापरवाही का आरोप

घटना के बाद घायल किशोरों और आसपास के लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और वह पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाकर नारेबाजी करने लगे। लोगों का कहना था कि जब पुलिस अपने हथियार ही नहीं संभाल पा रही है, तो वह आमजनों की रक्षा कैसे करेगी। इसके साथ ही उन्होंने मामले की जांच और लापरवाही करने वाले पुलिसकर्मी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। जिसके बाद पुलिस अधिकारियों ने उन्हें आश्वासन दिया कि मामले की निष्पक्ष जांच होगी और दोषी पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

दंगा निरोधक टीम में है सिपाही

घटना देहलीगेट थाने से चंद कदम की दूरी पर हुई। सिपाही देहलीगेट थाने में ही तैनात है और दंगा निरोधक टीम में है। दंगा निरोधक टीम में होने के कारण सिपाही के पास ऑटोमैटिक हथियार था, जिससे गोली चली। जिसके बाद पुलिस की टीम इस मामले की जांच करने में जुट गई है।

सीओ प्रथम राघवेंद्र सिंह ने बताया कि सिपाही की बंदूक से अचानक फायर हो गया। जिसके कारण आसपास खड़े कुछ किशोर मामूली घायल हुए हैं। उन्होंने बताया कि घायलों का इलाज कराया जा रहा है और मामले की जांच की जा रही है। अगर सिपाही की लापरवाही सामने आई तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...