मेरठ एसटीएफ ने अलीगढ़ में पकड़े यूपी एसआई के सॉल्वर:अलीगढ़ के बन्नादेवी क्षेत्र में एक सेंटर के नजदीक मकान से तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार

अलीगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की हिरासत में सॉल्वर गैंग के तीनों सदस्य - Dainik Bhaskar
पुलिस की हिरासत में सॉल्वर गैंग के तीनों सदस्य

उत्तर प्रदेश पुलिस की दरोगा भर्ती परीक्षा में सेंध लगाने वाले सॉल्वर गैंग का शुक्रवार को अलीगढ़ में खुलासा हुआ। मेरठ एसटीएफ ने अलीगढ़ आकर कार्रवाई की और बन्नादेवी क्षेत्र से आरोपियों को पूरे सेटअप के साथ गिरफ्तार किया। आरोपियों ने परीक्षा केंद्र के नजदीक एक मकान में अपना पूरा सेटअप लगा रखा था, जहां से सिस्टम को हैक करके पेपर को सॉल्व करने का काम करते थे। इसके लिए वह अभ्यर्थियों से मोटी रकम भी वसूलते थे। लेकिन पुलिस को इसकी भनक लग गई थी और उन्होंने छापेमारी करके परीक्षा कराने वाली कंपनी के सेंटर हेड समेत कई को गिरफ्तार किया है।

गुरुवार को अलीगढ़ आ गई थी मेरठ एसटीएफ

पुलिस के अनुसार मेरठ एसटीएफ को सॉल्वर गैंग की सूचना पहले ही मिल गई थी, जिसके चलते गुरुवार को ही मेरठ एसटीएफ अलीगढ़ आ गई थी। इस टीम में इंस्पेक्टर रविंद्र कुमार, एसआई संजय कुमार समेत अन्य पुलिस कर्मी शामिल थे। अलीगढ़ आने के टीम सॉल्वर गैंग की तलाश में जुट गई थी। जिसके बाद टीम मुखबिर से मिले के आधार पर सारसौल पहुंची। जिसके बाद मेरठ एसटीएफ ने बन्नादेवी थाना प्रभारी सुभाष सिंह से मिलकर गैंग को पकड़ने के लिए टीम तैयार की और शुक्रवार को उन्हें दबोच लिया।

परीक्षा केंद्र के बिल्कुल नजदीक था सेटअप

सॉल्वर गैंग के आरोपियों ने बन्नादेवी थाना क्षेत्र के दरोगा भर्ती परीक्षा केंद्र के बिल्कुल नजदीक ही एक मकान में अपना सेटअप तैयार कर रखा था। पुलिस ने परीक्षा केंद्र महर्षि विद्या मंदिर के नजदीक एक मकान में छापेमारी की, जहां से उन्हें आरोपियों के साथ पूरा सेटअप मिला। परीक्षा केंद्र के नजदीक बैठकर यह आरोपी केंद्र के सभी कंप्यूटरों को हैक कर लेते थे, इसके बाद यह प्रश्नपत्र सॉल्व करते थे। पुलिस को इनके पास से एक लैपटॉप, मानीटर, सीपीयू, वाईफाई, इंटरनेट डिवाइस, सात हार्डडिस्क समेत विभिन्न समान बरामद हुआ है।

मोटी रकम लेकर हल करते थे पेपर

आरोपियों ने पुलिस को बताया कि कॉलेज के सिस्टम चालू होते ही वह सारे सिस्टम को हैक कर लेते थे और उन्हें सारे सिस्टम का एक्सेस मिल जाता था। इसके बाद वह किसी भी सिस्टम को उठाकर उसमें आने वाला पर्चा हल करते थे। कालेज के सिस्टम को हैक करने के लिए उन्होंने एक फिजिकल केबल भी डाली थी, जो कालेज से होते हुए उस मकान से होकर गुजरती थी। इसके माध्यम से वह आसानी से पूरे सिस्टम को हैक कर लेते थे।

पुलिस ने इनको किया गिरफ्तार

छापेमारी करने के बाद पुलिस ने अलीगढ़ सुरक्षा विहार निवासी दीपक उर्फ जीतू पुत्र दिलीप सिंह, मकान मालिक राजवीर सिंह पुत्र प्रेमपाल सिंह निवासी गायत्री नगर खैर बाईपास रोड और उत्तराखंड हरिद्वार के थाना भगवानपुर के गांव कोटा मुरादपुर निवासी हिमांशु कुमार पुत्र सतीश कुमार को गिरफ्तार किया है। इन सभी आरोपियों पर पुलिस ने धारा 120बी, 420, 468, 471, 72ए आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

एक लाख में इंटरनेट व 20 हजार रोज में लिया मकान

सॉल्वर गैंग के सदस्यों ने इंटरनेट व मकान मालिक को भी मोटी रकम का लालच देकर अलीगढ़ में अपना अड्‌डा तैयार किया था। पुलिस द्वारा पकड़े गए आरोपी दीपक ने बताया कि उसने एक लाख रुपए के लालच में सॉल्वर गैंग को इंटरनेट उपलब्ध कराया था। इसके बाद ही उसने इस मकान में इंटरनेट कनेक्शन दिया। वहीं मकान मालिक राजवीर ने पुलिस को बताया कि उसे 20 हजार रुपए रोज किराया देने और फ्री इंटरनेट देने का वादा किया गया था। जिसके बाद उसने आरोपियों को अपना मकान किराए के लिए दे दिया है। जिसके बाद पुलिस ने इन दोनों को भी गिरफ्तार करके मुकदमा दर्ज किया है।

आरोपियों से पूछताछ जारी

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसमें से दो अलीगढ़ के ही निवासी हैं, जबकि एक उत्तराखंड का है। इस गैंग के तार अन्य जगहों पर भी फैले हो सकते हैं और इसमें अन्य कई लोगों के शामिल होने की संभावना है। सारे गैंग का भंडाफोड़ करने के लिए आरोपियों से पूछताछ जारी है। पूछताछ के आधार पर पुलिस पूरे गैंग का भंडाफोड़ करने के लिए आगे की कार्रवाई करेगी।

खबरें और भी हैं...