दूल्हे की उंगलियां कटी थी तो दुल्हन ने लौटाई बरात:अलीगढ़ के छर्रा थाना क्षेत्र के गांव सिरौली का मामला, बुलंदशहर से आई थी बरात

अलीगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हंगामे की सूचना मिलने पर क्षेत्रिय पुलिस ने पहुंचकर दोनों पक्षों को समझाने का किया प्रयास - Dainik Bhaskar
हंगामे की सूचना मिलने पर क्षेत्रिय पुलिस ने पहुंचकर दोनों पक्षों को समझाने का किया प्रयास

अलीगढ़ के छर्रा थाना क्षेत्र के गांव सिरौली में एक दुल्हन ने शादी के बाद विदाई से इनकार कर दिया। दूल्हे के हाथों की तीन उंगलियां कटी होने के कारण दुल्हन ने यह फैसला हुआ और शादी की सारी रस्में पूरी होने के बाद भी विदाई से इनकार कर दिया। दुल्हन का आरोप है कि शादी से पहले दूल्हे के परिवार जनों और बिचौलियों ने लड़के की उंगली कटी होने की बात छिपाई। इसी कारण वह शादी के लिए तैयार थी। वहीं दूसरी ओर दूल्हे और उसके परिजनों का कहना था कि लड़की के परिवार जनों को उन्होंने सारी बात शादी के पहले ही बता दी थी।

बुलंदशहर से अलीगढ़ आई थी बारात

अलीगढ़ के छर्रा थाना क्षेत्र के गांव सिरौली निवासी एक युवती का विवाह बुलंदशहर छतारी के गांव सालाबाद निवासी विकास के साथ तय हुआ था। परिवार जनों की आपसी सहमति के बाद विवाह की तिथि तय हो गई थी और बारात अलीगढ़ आई थी। बारात आने के बाद बाद जयमाल से लेकर सात फेरों तक की सारी रस्में अदा की गई। लेकिन जैसे ही दुल्हन की नजर दुल्हे के हाथ पर गई तो उसने देखा कि उसके हाथ की तीन उंगलियां कटी हुर्इ हैं। जिसके बाद उसने विदाई से इनकार कर दिया। जिसके बाद दोनों पक्षों में हंगामा शुरू हो गया और आसपास की भीड़ जमा हो गई।

दुल्हे के हाथ की तीन उंगलियां कटी होने के कारण हुआ विवाद
दुल्हे के हाथ की तीन उंगलियां कटी होने के कारण हुआ विवाद

बिचौलियों को बनाया बंधक, पहुंची पुलिस

शादी होने के बाद जब दुल्हन ने विदाई से इनकार किया तो दोनों पक्षों में हंगामा शुरू हो गया। विकास और उनके परिजनों का कहना था कि उन्होंने शादी से पहले ही लड़की के परिजनों को सारी बात बताई थी। इसके बाद ही शादी तय हुई थी। वहीं दुल्हन ने कहा कि लड़के के हाथ की उंगली कटी होने की बात उनसे छिपाई गई। अगर उन्हें मालूम होता तो वह कभी भी शादी के लिए तैयार नहीं होती। जिसके बाद दोनों पक्षों में जमकर हंगामा शुरू हो गया। हंगामे के बीच परिवार जनों ने शादी कराने वाले दोनों बिचौलिये होतीलाल और नेकराम को बंधक बना लिया। घटना की सूचना मिलने पर क्षेत्रिय पुलिस मौके पर पहुंच गई और दोनों पक्षों को समझाने का प्रयास किया और बिचौलियों को मुक्त कराया।

दुल्हन विदाई के लिए राजी नहीं

दोनों पक्षों के बीच जमकर हंगामा होने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला शांत कराया। लेकिन इस सब के बाद भी दुल्हन विदाई के लिए राजी नहीं है। वहीं दूसरी ओर दुल्हे के घर वाले अपनी घर की बहू को घर ले जाने के लिए इंतजार कर रहे हैं। उनका कहना है कि लड़की के चाचा को सारी बात बताई गई थी। लेकिन अब वह भी मना कर रहा है। दोनों परिवारों के मध्यस्थ लोग लगातार लड़की को समझाने का प्रयास कर रहे हैं।

इंस्पेक्टर छर्रा प्रमोद कुमार ने बताया कि हंगामे की सूचना पर पुलिस पहुंची थी और दोनों पक्षों को शांत कराया। अब परिवार जन आपसी बातचीत से मामला निपटाने का प्रयास कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...