जय श्रीराम नहीं बोलने पर युवक को पीटा:आरोपियों को पकड़ने में अलीगढ़ पुलिस के पसीने छूटे, गिरफ्तारी के बाद थाने में भी हंगामा

अलीगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल में इलाज कराता आमिर। - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल में इलाज कराता आमिर।

अलीगढ़ हरदुआगंज के नगला खैम में मुस्लिम युवक के साथ रविवार को मारपीट की गई। आरोप है कि जय श्रीराम और पाकिस्तान मुर्दाबाद नहीं बोलने पर आरोपियों ने युवक के कपड़े फाड़ दिए। उनके ठेले में आग लगाने की कोशिकी की। जेब में रखे रुपए भी लूट लिए। घायल युवक को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

धर्म पूछने के बाद बोले-जय श्रीराम बोलो

गांव सिलला के रहने वाले आमिर फेरी लगाकर कपड़ा बेचता है। रविवार को वह गांव नगला खैम में कपड़ा बेचने गया था। आरोप है कि गांव के राजू और उसके पिता ने पूछा, तू मुस्लिम है..। आमिर के हां करने पर, उन्होंने जय श्रीराम बोलने के लिए कहा। पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाने का दबाव बनाया।

पीड़ित के मुताबिक, पहले उसने नजरअंदाज किया। लेकिन दोनों ने उसे घेर लिया। उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। 10 हजार रुपए, मोबाइल और फेरी के कपड़े छीन लिए। ठेले को आग के हवाले करने का प्रयास करने लगे। जैसे-तैसे वह जान बचाकर भागा। पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद उसकी जान बच सकी।

पुलिस से भी आरोपियों ने की धक्का मुक्की
हरदुआगंज पुलिस ने आरोपी पिता-पुत्र को पकड़ने पहुंची। आरोप है कि उन्होंने पुलिस कर्मियों के साथ भी अभद्रता की। धक्का-मुक्की करके थाने जाने से मना कर दिया। जिसके बाद पुलिस कर्मियों ने थाने से और फोर्स बुलाई। आरोपियों को गिरफ्तार किया। जिसके बाद आरोपियों ने थाने में भी हंगामा किया। थाने में उनकी पैरवी करने के लिए रिश्ते के चाचा ने बताया है कि उसका भाई और भतीजा दोनों मानसिक रूप से कमजोर हैं। आए दिन ऐसी हरकतें करते हैं।

एसपी यातायात बोले-पुलिस ने तुरंत कार्रवाई की

पुलिस ने पैरवी नहीं मानी। दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। एसपी यातायात सतीश चंद्र ने बताया कि पुलिस ने तुरंत कार्रवाई की है। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पीड़ित का इलाज कराया जा रहा है। वहीं आरोपियों की मानसिक दशा के बारे में डॉक्टरों से राय ली जाएगी।