अलीगढ़ में 11 लाख ने नहीं लगवाई दूसरी डोज:कोरोना का टीका लगवाने में कर रहें देरी, डॉक्टरों ने दी खतरे के चेतावनी

अलीगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिले में कुल 11,45,578 लोग ऐसे हैं, जिन्होंने अभी तक पहली डोज ही नहीं लगवाई है। - Dainik Bhaskar
जिले में कुल 11,45,578 लोग ऐसे हैं, जिन्होंने अभी तक पहली डोज ही नहीं लगवाई है।

कोरोना महामारी से बचाव के लिए वैक्सीन ही एकमात्र उपचार है, लेकिन अलीगढ़ के लोग लगातार इसमें लापरवाही कर रहे हैं। हालत यह है कि जिले में 11,00,878 लोगों ने कोरोना की पहली डोज लेने के बाद दूसरी डोज नहीं ली है। वहीं, जिले में कुल 11,45,578 लोग ऐसे हैं, जिन्होंने अभी तक पहली डोज ही नहीं लगवाई है।

स्वास्थ्य विभाग ने जिले में कुल 27 लाख 19 हजार 931 लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया था। जिसमें अक्टूबर तक सिर्फ 42% ने ही पहली डोज लगवाई है। पहली डोज लगवाने के बाद 70 फीसदी ही दूसरी डोज लगवाने के लिए आगे आए हैं।

सिर्फ 4.73 लाख ने पूरी की दोनों डोज
कोविड-19 से बचाव के लिए टीकाकरण बहुत जरूरी है। क्योंकि आईसीएमआर के अनुसार दूसरी लहर की तरह ही कोरोना की तीसरी लहर भी भयानक हो सकती है। इसके चलते स्वास्थ्य विभाग नियमित टीकाकरण के साथ लगातार मेगा अभियान भी चला रहा है। शासन की ओर से अलीगढ़ में 18 साल से ऊपर के 27,19,931 लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। इसमें 15,74,353 (57.88 %) ने सिर्फ पहली डोज, तो 4,73,475 (23.10 %) ने ही कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज ली है।

जानें टीकाकरण का आंकड़ा

  • टीकाकरण का लक्ष्य- 27,19,931
  • टीकाकरण - संख्या - प्रतिशत
  • कुल टीकाकरण - 20,48,839 - 75.88%
  • पहली डोज लगवाई - 15,74,353 - 76.84%
  • दूसरी डोज लगवाई - 11,00,878 - 70%

लोगों को किया जाएगा जागरूक
CMO डॉ. आनंद उपाध्याय ने बताया कि लोगों को जागरूक करने के लिए लगातार अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि कोविशील्ड की दूसरी डोज 84 दिन बाद लगाने का नियम है। लंबा समय होने के कारण भी लोग इस काम में लापरवाही कर जाते हैं। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से लगातार लोगों को रिमांडर भी भेजा जा रहा है। उन्होंने बताया कि दिसंबर तक अलीगढ़ को टॉप-5 जिलों में शामिल कराने का प्रयास किया जा रहा है।