एटा के सीमेंट कारोबारी की हत्या का EXCLUSIVE VIDEO:कार से आए थे तीन शूटर, दो ने घेरकर की अंधाधुंध फायरिंग और आसानी से भाग निकले

अलीगढ़5 महीने पहलेलेखक: रोहित शर्मा
CCTV में कैद हत्यारे और घटना में इस्तेमाल की गई कार।

एटा के सीमेंट कारोबारी की हत्या करने के लिए तीन प्रोफेशनल हत्यारे अलीगढ़ आए थे। उन्हें कारोबारी की पल-पल की लोकेशन मिल रही थी और फोन पर सारी सूचनाएं ले रहे थे। एक कार स्टार्ट कर ड्राइविंग सीट पर बैठा था। दो हत्यारे सड़क पर खड़े होकर कारोबारी का इंतजार कर रहे थे।

जैसे ही कारोबारी संदीप गुप्ता की गाड़ी घटनास्थल पर आकर रुकी, दोनों हत्यारों ने उन्हें घेरकर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद दोनों हत्यारे दौड़ते हुए अपनी कार में बैठे और फरार हो गए। यह वारदात सोमवार रात करीब 8 बजे हुई थी।

भास्कर के पास CCTV फुटेज, तीन आरोपी आ रहे नजर

भास्कर को मिले CCTV फुटेज में तीन आरोपी साफ नजर आ रहे हैं। इसमें सफेद रंग की हुडी पहने एक व्यक्ति कार चला रहा था।
भास्कर को मिले CCTV फुटेज में तीन आरोपी साफ नजर आ रहे हैं। इसमें सफेद रंग की हुडी पहने एक व्यक्ति कार चला रहा था।

सबसे पहले भास्कर को मिले CCTV फुटेज में तीन आरोपी साफ नजर आ रहे हैं। इसमें सफेद रंग की हुडी पहने एक व्यक्ति कार चला रहा था। वह ड्राइविंग सीट से उतरा। इसके बाद दो आरोपी, जो काले रंग की जैकेट पहने थे, वे भी उसके साथ बाहर निकले। फिर काले रंग की जैकेट वाला एक आरोपी ड्राइविंग सीट पर कार स्टार्ट करके बैठ गया। सफेद रंग की हुडी और काले रंग की जैकेट वाले हत्यारों ने घटना को अंजाम दिया।

मथुरा से लूटी गई थी कार, दो बार बदला नंबर

हत्या में इस्तेमाल की गई नीली बलेनो को मथुरा से लूटा गया था। इसमें दो बार नंबर बदले गए। पहले हत्यारे हरियाणा की नंबर प्लेट लगाए हुए थे। इसके बाद उन्होंने बागपत की बड़ौत तहसील का नंबर लगा लिया। पुलिस के अनुसार इस गाड़ी को 14 अक्टूबर को मथुरा के एक व्यापारी से लूटा गया था। इसका मथुरा में मुकदमा भी दर्ज किया गया था।

जंगल में गाड़ी छोड़कर फरार हुए

कारोबारी की हत्या करने के बाद हत्यारे नीली बलेनो में बैठकर फरार हो गए थे। रामघाट रोड से वे सीधे अतरौली की ओर गए। हरदुआगंज के पास हत्यारों ने कार को जंगल के पास छोड़ दिया। इसके बाद वे आगे कहां और कैसे गए, इस बारे में पुलिस को अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है। घटना के बाद पुलिस अब मथुरा, बागपत और आसपास के जिलों के साथ ही अन्य राज्यों में भी अपना नेटवर्क फैला रही है। वहीं, पुलिस कारोबारी के परिचितों से भी पूछताछ कर रही है।

हत्यारों ने ढक रखे थे चेहरे

CCTV फुटेज में साफ नजर आ रहा है कि हत्यारों ने अपने चेहरे ढक रखे थे। इसके चलते पुलिस अभी तक उनकी पहचान नहीं कर सकी है। SSP कलानिधि नैथानी ने बताया कि घटना को अंजाम देने के लिए तीन हत्यारे आए थे। इनमें से दो ने कारोबारी पर गोलियां चलाई। तीसरा गाड़ी में तैयार बैठा था। घटना को अंजाम देने के बाद तीनों वहां से फरार हो गए। उन्होंने बताया कि जल्दी ही हत्यारे पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

खबरें और भी हैं...