पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना के बीच माघ मेला:मकर संक्रांति पर संगम में आस्था का गोता लगाने निकले लोग, एक किलोमीटर लंबे स्नान घाटों पर पुलिस अलर्ट

प्रयागराज3 दिन पहले
मकर संक्रांति स्नान के लिए संगम पर करीब एक किलोमीटर लंबा घाट तैयार किया गया है। स्नान घाटों पर पुलिस अलर्ट है।
  • मेले में मास्क, सैनिटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य

उत्तर प्रदेश में गंगा यमुना एवं अदृश्य सरस्वती के संगम तट पर पूरे एक माह तक चलने वाले कल्पवास का यूं तो आज से ही प्रारम्भ हो जाता है लेकिन अधिमास की वजह से इस बार पौष पूर्णिमा 28 जनवरी को है और कोरोना काल भी है इसलिए इस बार कल्पवास 28 जनवरी से शुरू होगा। वहीं सारे कल्पवासियों के आने के बाद ही मेले में रंगत नजर आएगी। स्नान के लिए संगम पर करीब एक किलोमीटर लंबा घाट तैयार किया गया है। स्नान घाटों पर पुलिस अलर्ट है।

पौष शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा बृहस्पतिवार को सूर्य देव देवगुरु बृ़हस्पति की राशि धनु को छोड़कर अपने पुत्र शनि की राशि मकर में एक माह के लिए प्रवेश करेंगे। सूर्य का मकर राशि में दिन में 2.03 बजे प्रवेश होगा लेकिन, स्नान और दान के लिए संक्रांति का पुण्यकाल पूरे दिन रहेगा। वैसे भोर से ही संक्रांति का स्नान, दान पुण्य आरंभ हो जाएगा। मकर संक्रांति पर संगम में स्नान पुण्यदायी माना जाता है।

जगह-जगह की गई है बैरिकेटिंग

प्रयागराज के संगम तट पर आज के स्नान के लिए जगह जगह बैरिकेटिंग की गई है। मास्क, सैनिटाइजर के बिना मेले में सरकारी और गैरसरकारी दोनों लोगों का प्रवेश वर्जित है। सुबह से ही संगम नोज, वीआईपी, रामघाट, दशाश्वमेध घाट, अरैल घाट समेत सभी 36 घाटों पर पुलिस एवं समाजसेवी भीड़ न इकट्ठी होने देने के लिए प्रयासरत है। उम्मीद के मुताबिक भीड़ भी नही है। केपी सिंह ने कहा कि हम कोरोना काल में भी लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए स्नान कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

सुबह से ही आस्था की डुबकी लगा रहे हैं श्रद्धालु

मकर संक्रांति के उपलक्ष्य में संगम व गंगा के पवित्र जल में स्नान का सिलसिला सुबह से आरंभ हो गया। सूर्य का मकर राशि में प्रवेश दिन में 2:03 बजे होगा, लेकिन मनोवांछित फल की प्राप्ति के लिए दूर-दूर से आए श्रद्धालु स्नान कड़ाके की ठंड के बीच करीब चार बजे से स्नान-दान और गोदान में जुट गए। संगम के अलावा गंगा के अक्षयवट, काली घाट, दारागंज, फाफामऊ घाट पर भी स्नान चल रहा है।

मेला क्षेत्र में साधु संतों के पंडाल में भजन पूजन का दौर भी शुरू हो गया है। वैसे माघ मेला 27 जनवरी के आसपास रंग में आएगा। 28 जनवरी को पौष पूर्णिमा है और इस दिन से एक महीने का कल्पवास शुरू हो जाता है। अधिक मास ( पुरूषोत्तम मास) की वजह से तिथि बढ़ी है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कई प्रकार की गतिविधियां में व्यस्तता रहेगी। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने में समर्थ रहेंगे। तथा लोग आपकी योग्यता के कायल हो जाएंगे। कोई रुकी हुई पेमेंट...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser