ग्रीष्मावकाश की घोषणा:कोविड-19 महामारी के संक्रमण को देखते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट 10 मई से होगा बंद

प्रयागराजएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट में समय से पहले ग्रीष्मावकाश घोषित करने का निर्णय लिया गया है। इसके तहत हाईकोर्ट की प्रधान पीठ व लखनऊ बेंच में 10 मई से 4 जून तक ग्रीष्मावकाश रहेगा। यह आदेश समस्त अधीनस्थ न्यायालय पर भी लागू होगा।

कार्यवाहक चीफ जस्टिस संजय यादव के निर्देश पर बृहस्पतिवार को हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल की ओर से आदेश जारी किया गया। बता दें कि पहले हाई कोर्ट और अधीनस्थ न्यायालयों में 1 जून से 30 जून 2021 तक ग्रीष्मावकाश होना था। लेकिन कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अब समय से पहले ही ग्रीष्मावकाश करने का निर्णय लिया गया है।

रजिस्टार जनरल की ओर से जारी आदेश में यह भी कहा गया है कि इलाहाबाद हाई कोर्ट व अधीनस्थ अदालतों का कैलेंडर इस आधार पर संशोधित किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...