अंबेडकरनगर...कोर्ट से स्टे के बाद भी जमीन पर कब्जा:दूसरे जिले में तैनात ASP पर आरोप, विपक्षी बोले- रसूख के चलते किया कब्जा

अंबेडकरनगर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोर्ट से स्टे के बाद भी जमीन पर किया कब्जा। - Dainik Bhaskar
कोर्ट से स्टे के बाद भी जमीन पर किया कब्जा।

अंबेडकरनगर के आलापुर तहसील क्षेत्र के रामनगर महुवर गांव में बेशकीमती भूमि पर स्टे आदेश के बावजूद जबरन एक भूखंड पर एक पक्ष द्वारा कब्जा किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इसके चलते कभी भी बड़ी घटना हो सकती है। आरोप है कि प्रशासनिक लापरवाही के चलते आक्रोश की चिंगारी बढ़ती जा रही है, जो कभी भी उग्र रूप धारण कर सकती है।

पुलिस की मिलीभगत के बल पर किया जमीन पर कब्जा

मामला आलापुर तहसील क्षेत्र के रामनगर महुवर गांव का है। इस गांव में गैर जिले में तैनात एक अपर पुलिस अधीक्षक द्वारा ग्राम पंचायत की भूमि को अपने नाम करा लिया गया। इसी मामले में विपक्षी अनिल और कई अन्य लोगों ने आपत्ति भी दाखिल की। बीते दिनों भारी पुलिस बल लगाकर न्यायालय के आदेश का हवाला देकर बेशकीमती भूमि पर उन्हें कब्जा दिला दिया गया।

न्यायालय से है अनिल के पक्ष में स्टे आर्डर

भूखंड मामले में विपक्षी अनिल ने पुलिस से न्याय न मिलता देखकर न्यायालय का दरवाजा खटखटाया। जिस पर न्यायालय ने आगामी 17 जनवरी तक मामले में यथास्थिति बनाए रखने का आदेश जारी किया अनिल का आरोप है कि 24 दिसंबर को ही अपर पुलिस अधीक्षक के परिजनों द्वारा न्यायालय के आदेशों की अवहेलना करते हुए खेत की जुताई शुरू करा दी गई। मामले में हस्तक्षेप करने पहुंचे अनिल को पुलिस टीम ने हिरासत में लेकर सक्षम न्यायालय में पेश किया, जहां उन्हें जेल भेज दिया गया।

ऐसे में सवाल यह उठ रहा है कि जब न्यायालय ने स्थगन आदेश दिया है तब अपर पुलिस अधीक्षक के परिजनों द्वारा जमीन पर कब्जा क्यों किया जा रहा है। चर्चाओं पर गौर करें तो रसूख के बलबूते जमीन पर कब्जा करने का प्रयास किया जा रहा है। स्थानीय लोगों का कहना है कि प्रशासनिक शिथिलता के चलते कभी भी बड़ी घटना हो सकती है।