5 करोड़ से स्कूलों का होगा कायाकल्प:कम्पोजिट ग्रांट योजना के तहत भेजा जा रहा फंड; इसका इस्तेमाल पढ़ाई से लेकर माहौल बेहतर बनाने में होगा

अंबेडकरनगर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

परिषदीय स्कूलों की सूरत बदलने के लिए शासन ने 5 करोड़ बेसिक शिक्षा विभाग को दिए हैं। ये फंड कम्पोजिट ग्रांट योजना के तहत भेजा जा रहा है। इससे स्कूलों की रंगाई-पुताई, टॉयलेट, बिजली और सफाई व्यवस्था को दुरुस्त किया जाएगा। स्कूलों में जरूरी स्टेशनरी भी इस फंड से खरीदी जा सकती है।

1582 परिषदीय स्कूलों में बंटेगा ये फंड
प्रदेश और केंद्र सरकार जिले के 1582 परिषदीय स्कूलों को कान्वेंट स्कूलों की तरह डेवलप करना चाह रही है। BSA कार्यालय के निर्माण प्रभारी विकास चौधरी ने बताया," कंपोजिट ग्रांट के तहत मिले फंड से स्कूलों में निर्माण कराए जाएंगे। अब छात्रों की संख्या के हिसाब से स्कूल प्रबंध समिति के बैंक खाते में रकम भेजी जाएगी।"

उन्होंने बताया,"जिस स्कूल में छात्रों की संख्या एक से 30 तक होगी। वहां 10 हजार रुपए भेजे जाएंगे। छात्र संख्या 31 से 100 तक 25 हजार, छात्र संख्या 101 से 250 तक 50 हजार, छात्र संख्या 251 से एक हजार तक 75 हजार रुपए और 1001 से अधिक छात्रों की संख्या होने पर 1 लाख रुपए की राशि प्रबंध समिति के खाते में भेजी जाएगी।"

BSA भोलेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया,"कंपोजिट ग्रांट का फंड स्वीकृत हो चुका है। ये हमारे स्कूलों के लिए बड़ी बात है।"