अंबेडकरनगर में किसानों ने किया रोड जाम:धान तौल न होने पर हंगामा और प्रदर्शन, 7 दिनों से कर रहे थे इंतजार

अंबेडकरनगर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हंगामे और जाम की सूचना पर अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। - Dainik Bhaskar
हंगामे और जाम की सूचना पर अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं।

अंबेडकरनगर में किसानों ने रोड जाम कर दिया। बताया जा रहा है कि धान तौल न होने से नाराज किसानों ने मंडी गेट के सामने मालीपुर शहजादपुर रोड पर प्रदर्शन किया। हंगामे और जाम की सूचना पर अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। वो किसानों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं।

दरअसल, अकबरपुर के शहजादपुर नवीन मंडी में धान की तौल होती है। यहां खाद रसद मंडी व पीसीएफ के कांटे लगे हैं। किसानों का कहना है कि यहां पर धान की तौल नहीं हो रही है। मंडी में खड़ी सैकड़ों ट्राली धान दो दिन पहले बारिश में भीग गए थे।

50 हजार क्विवंटल धान पर संकट के बादल

धान खरीद केंद्रों पर एक तरफ जंहा ऑफलाइन व ऑनलाइन सिस्टम के बीच किसान पिस रहें हैं तो दूसरी तरफ अब खराब मौसम व बूंदाबांदी ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। जिले भर में करीब 67 क्रय केंद्र बनाए गए थे, लेकिन अभी लगभग 15 केंद्र पर तौल किया जा रहा है।

अधिकतर धान क्रय केंद्रों पर किसान हफ्ते भर से अपने धान लिए तौल का इंतजार कर रहे हैं। इसकी वजह जिले भर में करीब 50 हजार कुंतल धान पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। किसानों का कहना है कि अगर धान खरीद समय से न हुई तो उनका धान बर्बाद हो जाएगा।

अधिकतर धान क्रय केंद्रों पर किसान हफ्ते भर से अपने धान लिए तौल का इंतजार कर रहे हैं।
अधिकतर धान क्रय केंद्रों पर किसान हफ्ते भर से अपने धान लिए तौल का इंतजार कर रहे हैं।

ऑफलाइन व ऑनलाइन से जूझ रहा किसान

पहले धान खरीद सिस्टम ऑफलाइन किया गया। करीब 10 से 15 दिन यह व्यवस्था संचालित हुई,लेकिन बीच में ऑनलाइन टोकन सिस्टम शुरू किया गया, लेकिन यह भी बस दो दिन तक चल सका।ऑनलाइन व्यवस्था भी निरस्त कर दिया गया। जिसके बाद सैकड़ों की संख्या में किसान अलग-अलग केंद्रों पर अपनी बारी का इंतजार कर रहे है।

28 दिसंबर से दोबारा ऑनलाइन टोकन जारी

28 दिसम्बर से दोबारा ऑनलाइन सिस्टम शुरू किया गया। जिसके बाद तकरीबन 15 दिन से अपनी बारी का इंतजार कर रहे।जिला मुख्यालय के नवीन मंडी से लेकर जिले के अलग अलग सेंटरों पर किसान तौल कराने के लिए अपनी ट्राली लिए खड़े है,लेकिन तौल नहीं हो पा रही है।

आलापुर तहसील इलाके के सरावा गांव निवासी राधेश्याम व रामनगर गांव निवासी रामदीन को दोबारा टोकन लेना पड़ा।इसके अलावा दर्जनों किसान ऐसे हैं जो केंद्र पर अपनी ट्राली खड़ी कर अपनी अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। डिप्टी आरएमओ राकेश कुमार ने बताया कि धान की खरीद की जा रही है। पहले मिल धान ले नही रहे थे,इसलिए दिक्कत हुई।

खबरें और भी हैं...