टांडा में पथराव करने वाले 36 उपद्रवियों पर मुकदमा दर्ज:जुमे की नमाज के बाद माहौल खराब करने की कोशिश, 26 लोग गिरफ्तार

टाण्डा (अम्बेडकरनगर)4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

टांडा में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद नगर के थाना अलीगंज क्षेत्र के हक्कानी शाह की दरगाह तलवापार में उपद्रवियों ने शहर को अशांत करने की कोशिश की थी। उससे निपटने के बाद पुलिस और प्रशासन ने कड़ी कार्रवाई करते हुए 36 नामजद सहित लगभग 80 लोगों के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने, उपद्रव, बलवा और पुलिस पर जानलेवा हमले सहित कई गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर 26 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

जुमे की नमाज के लगभग एक घंटे बाद टांडा में तलवापार के मैदान में उपद्रवियों द्वारा किए गए उत्पात, पुलिस पर पथराव के बाद प्रशासन ने जिस मुश्तैदी से स्थिति को संभाला, उससे न सिर्फ टांडा का अमन चैन खराब होने से बच गया, बल्कि प्रशासन की सूझबूझ की तारीफ भी लोग कर रहे हैं। शुक्रवार के उपद्रव के बाद हरकत में आई पुलिस और प्रशासन ने बिना देरी किए हुए कड़ी कार्रवाई करते बल प्रयोग कर उपद्रवियों को खदेड़ा और प्रदर्शन में शामिल कई दर्जन युवकों को गिरफ्तार कर लिया। स्थिति पर नियंत्रण के लिए स्वयं जिलाधिकारी सैमुअल पॉल एन और पुलिस अधीक्षक अजीत कुमार सिन्हा जिले के कई थानों की फोर्स लेकर पहुँचे और हालात को काबू में किया था।

स्थानीय पुलिस की कार्यशैली पर उठ रही हैं उंगलियां

उपद्रवियों को पकड़ने के बाद कई युवकों को थाने से छोड़ देने का आरोप स्थानीय थाना अलीगंज के ऊपर लगना शुरू हो गया है। बताया जाता है कि प्रदर्शन और उपद्रव के बाद तलवापार में ही सघन कार्रवाई करते हुए जिस युवक को खुद पुलिस अधीक्षक और उनके पीआरओ ने पकड़ पर पुलिस वाहन से थाने भिजवाया था, उसे ही पुलिस ने थाने से दूसरे दिन छोड़ दिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार लगभग एक दर्जन लोगों को थाने से सुपुर्दगी नामा लिखवा कर छोड़ा गया है।

प्रदर्शन के लिए उकसाने वाले शातिर पर कृपा

तलवापार में प्रदर्शन और उपद्रव को आयोजित करने वाले एआईएमआईएम के प्रदेश सचिव इरफान पठान का एक ऐसा वीडियो सामने आया है, जिसमें उपद्रव करने वाली भीड़ में से एक युवक यह कहता नजर आ रहा है कि पहले तो आप ने प्रदर्शन के लिए बुला लिया और अब प्रदर्शन समाप्त करने की बात कर रहे हैं। इस खुलासे के बाद भी पुलिस ने न तो इरफान पठान के खिलाफ कोई कार्रवाई की है और न एफआईआर में ही उसे शामिल किया गया है।

इससे पहले भी इरफान पठान ने कई बार तलवापार में भीड़ को इकट्ठा कर शहर को अशांत करने का प्रयास कर चुका है। हत्या सहित कई मामलों का आरोपी हिस्ट्रीशीटर इरफान पठान पर कुछ स्थानीय पुलिस के अधिकारियों की कृपा बरस रही है।

इन लोगों के विरुद्ध पंजीकृत हुआ है मुकदमा

मोहम्मद फराज पुत्र इम्तियाज अहमद, मोहम्मद जिया पुत्र वसीम कैसर, समीर पुत्र मोहम्मद अली, शाहिद पुत्र अब्दुल रऊफ, मोहम्मद सलमान उर्फ अकबर अली पुत्र कुर्बान अली, मोहम्मद तुराब उर्फ शनि पुत्र आमिर अहमद, मोहम्मद अली पुत्र इस्लाम,मोहम्मद राशिद पुत्र अमीन अहमद, मोहम्मद अयाज पुत्र आशिक अली,मोहम्मद तैयाब पुत्र फैयाज अहमद,फैज अहमद पुत्र हिकामुद्दीन,साकिब जमाल पुत्र शरीफ अहमद, मोहम्मद कामरान उर्फ सोनू पुत्र रज्जब अली, महबूब यद्दानी उर्फ मिसबाहुल मुजफ्फर पुत्र सिराज अहमद,आफताब पुत्र स्वर्गीय मोहम्मद इकबाल,अनीश पुत्र मोबिन,रिजवान पुत्र अब्दुल रऊफ, असलम पुत्र नियाज अहमद, खुर्शीद आलम पुत्र अर्शे आलम,सादाब पुत्र आदिल,अरशान आलम पुत्र मोहम्मद आलम,मोहम्मद इमरान पुत्र नसीम,मोहम्मद जावेद पुत्र सलामुद्दीन, मोहम्मद फरदीन पुत्र वकील अहमद,मुझक्किर पुत्र मुमताज अहमद, मोहम्मद सादैन पुत्र इरफान,शहबान पुत्र करीमउल्ला,नजीर पुत्र अज्ञात,सादिक पुत्र मोहम्मद अली,शाहिल पुत्र अज्ञात,हासिम पुत्र कासिम,सकलैन पुत्र फरीद,कामरान,साहब,एलहान पुत्र अज्ञात सहबान पुत्र रिजवान और 50 अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

खबरें और भी हैं...