अमेठी तहसील में पुरस्कार पाकर खिले छात्रों के चेहरे:रंगारंग कार्यक्रम में झूमे इंजीनियरिंग और प्रबंधन के छात्र

अमेठी तहसील11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जनपद के मुंशीगंज स्थित राजर्षि रणञ्जय सिंह इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट ऐंड टेक्नोलोजी में शुरू हुए तीन दिवसीय वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में रंगारंग कार्यक्रम के साथ समापन हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में संस्थान के अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ0 संजय सिंह और विशिष्ट अतिथि के रूप में संस्थान की उपाध्यक्ष व पूर्व प्राविधिक शिक्षा मंत्री डॉ0 अमीता सिंह उपस्थित रहे।

आरआरएसआईएमटी के वार्षिकोत्सव में तीन दिवस चले प्रतियोगिताओं में प्रथम व दुत्तीय स्थान पाने वाले प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया। फेस पेंटिंग में प्रथम स्थान के लिए शिवांगी सिंह और दुत्तीय स्थान के लिए हरिदर्शन , पोस्टर मेकिंग में साध्वी सिंह प्रथम और सूरज भारती दूसरे स्थान, रंगोली में साक्षी वर्मा प्रथम और संजू देवी तथा उपमा बरनवाल दूसरे स्थाम, मेहंदी में उपमा बरनवाल प्रथम और काजल दूसरे स्थान, कैनन क्रास प्रतियोगिता में सत्यम शर्मा आजाद मिश्रा पीयूष गुप्ता,आदित्य प्रताप सिंह का ग्रुप प्रथम स्थान तथा रुद्रांश सिंह, आशीष प्रजापति, आशीष मौर्य का ग्रुप दूसरे स्थान,जंक यार्ड में अमन वर्मा प्रथम स्थान तथा लुवकुश दूसरे स्थान के लिए सफल रहे।

इसी कड़ी में क्रिकेट के खेल में अमन द्विवेदी के कप्तानी में टीम विजयी रही खो-खो प्रतियोगिता में एमबीए विभाग की टीम विजयी रही वही आज समापन के दिन रंगारंग कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं द्वारा सरस्वती वंदना, गीत, नृत्य, एकांकी की मनमोहक प्रस्तुति की गई। फैशन शो रंगारंग कार्यक्रम के मुख्य आकर्षण का केंद्र रहा जिसमे छात्रों ने खूब तालियाँ बजाईं। मुख्य अतिथि डॉ0 संजय सिंह और विशिष्ट अतिथि डॉ0 अमीता सिंह द्वारा शील्ड और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया और उन्हें स्वर्णिम भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी गई।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री व संस्थान के अध्यक्ष डॉ0 संजय सिंह ने कहा कि राजर्षि रणंजय सिंह जी अमेठी को लहुरी काशी बनाना चाहते थे। आज हम लोग उसी सदविचार को आगे ले जाने का कार्य कर रहे हैं। विभिन्न प्रतियोगिताओं में जिस प्रकार से छात्रों की प्रतिभाएं निखर कर सामने आई हैं उससे विश्वास होता है कि ये छात्र जीवन के हर क्षेत्र में बड़ा मुकाम हासिल करेंगे।

खबरें और भी हैं...