संग्रामपुर में एडीओ पंचायत और प्रधान पर मुकदमा दर्ज:मुख्य पशु चिकित्साधिकारी सहित चार को नेटिस जारी, गोवंशों की देखरेख में लापरवाही का आरोप

अमेठी तहसील, अमेठी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अमेठी जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र के आदेश पर गो आश्रय स्थल में गोवंशों को पर्याप्त मात्रा में भूसे की उपलब्धता न होने पर संग्रामपुर के सहायक विकास अधिकारी दीनदयाल दुबे व चंडेरिया के प्रधान मोहम्मद तुफैल के विरुद्ध थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है।

बताते चलें कि शासन की ओर से गो आश्रय स्थलों पर गोवंशों के लिए पर्याप्त मात्रा में चारा-पानी व टीन शेड इत्यादि सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। इसको लेकर जिलाधिकारी लगातार संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा कर रहे हैं। विकास खंड संग्रामपुर की ग्राम पंचायत चंडेरिया के गो आश्रय स्थल का नोडल अधिकारी नरेंद्र कुमार पांडे ने औचक निरीक्षण किया तो पाया कि आश्रय स्थल में मौजूद 24 गोवंश के सापेक्ष मात्र 50 किलोग्राम भूसा उपलब्ध है, जो बहुत ही कम है।

इसको लेकर जिलाधिकारी के निर्देश पर डा. मेहेर सिंह पशु चिकित्सा अधिकारी विकास खंड संग्रामपुर ने संबंधित सहायक विकास अधिकारी दीनदयाल दूबे विकास खंड संग्रामपुर और चंडेरिया के प्रधान मोहम्मद तुफैल के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराई। वहीं, गो आश्रय स्थलों में लापरवाही बरतने पर खंड विकास अधिकारी भेटुआ संजय गुप्ता, साबिर अली, उप मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. लाल रत्नाकर सिंह, पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. राम शिरोमणि, डॉ. उमेश चंद्र, डॉक्टर संतोष कुमार को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

खबरें और भी हैं...