सड़क निर्माण में भारी अनियमितता:संग्रामपुर में ग्रामीणों ने किया विरोध, ठेकेदार की मनमानी से नाराजगी, धूल भी नहीं हटाई गई

अमेठी तहसील9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
संग्रामपुर के भौसिहपुर और कालिकन धाम को जोड़ने वाली सड़क के निर्माण में अनियमितता पर नाराजगी। - Dainik Bhaskar
संग्रामपुर के भौसिहपुर और कालिकन धाम को जोड़ने वाली सड़क के निर्माण में अनियमितता पर नाराजगी।

संग्रामपुर के भौसिहपुर और कालिकन धाम को जोड़ने वाली सड़क पर मानक विहीन काम होने से गांव के लोगों ने नाराजगी जताई है। वहीं ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि ठेकेदार द्वारा मनमानी करके सड़क मानक के अनुरूप नहीं बनाया जा रहा है, जिसको लेकर तहसीलदार अमेठी से ग्रामीणों ने शिकायत कर सड़क को नियमानुसार बनवाने की मांग की है।

ठेकेदार की मनमानी

विकास खण्ड संग्रामपुर के ग्रामसभा भौसिहपुर व कालिकन धाम को जोड़ने वाली सड़क का निर्माण कार्य मानक विहीन हो रहा है, जिससे गांव के लोग नाराज होकर तहसीलदार अमेठी से शिकायत किया है। ग्रामीणों का कहना है कि आठ सौ मीटर काली सड़क का निर्माण कराया जा रहा है, जिसमें ग्रामसभा वासियों ने सामूहिक रूप से विरोध किया। उनका कहना है कि लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाई जा रही काली सड़क ठेकेदार की मनमानी से मानक के विपरीत बनाया जा रहा है। भौसिहपुर ग्रामसभा निवासी यशवंत सिंह ने बताया कि इस सड़क निर्माण मे लेपन कर काम कर कोरम पूरा किया जा रहा है।

ग्रामीणों ने बयां किया दर्द

पुरानी सड़क पर जमी धूल तक की सफाई नही की जा रही है। वहीं उदयराज सिंह ने कहा कि इस प्रकार के निर्माण से मात्र एक सप्ताह में सड़क उखड़ जाएगी। इसी ग्रामसभा निवासी अवधेश सिंह चौहान ने बताया कि सड़क निर्माण मजबूती से बनना चाहिए लेकिन ठेकेदारों की धांधली से बनाई गई सड़क मात्र एक सप्ताह के लिए होती है। शिकायत के बाद भी जिम्मेदार अधिकारी धांधली करने वालों पर कार्रवाई नहीं करते हैं।

क्षेत्र पंचायत सदस्य ने तहसीलदार को दिया ज्ञापन

वहीं क्षेत्र पंचायत सदस्य भौसिहपुर विजय सिंह ने अमेठी तहसीलदार को ज्ञापन देकर शिकायत की है। उन्होंने कहा की ग्रामसभा का मैं एक जन प्रतिनिधि हूं और मेरी ग्रामसभा मे लीपापोती न हो इसके लिए मैने तहसीलदार को एक लिखित शिकायत की है, जिसपर तहसीलदार ने जांच कराने की बात कही है। वहीं जब तक जांच नहीं हो जाती तब तक निर्माण कार्य पर रोक लगवाने के लिए ग्रामीणों ने मांग की है। मामले को लेकर तहसीलदार अमेठी ने बताया कि पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि मामले की जांच करा कर उचित कार्रवाई किया जाए और निर्माण कार्य नियमानुसार कराए जाए।

खबरें और भी हैं...