अमेठी में सिगरेट नहीं देने पर दुकानदार की हत्या:शराब पीने के बाद दुकान पर गए थे दो युवक, सिगरेट नहीं देने पर गला दबाकर की हत्या; गिरफ्तार

अमेठी10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अमेठी में सिगरेट नहीं देने पर दुकानदार की हत्या। - Dainik Bhaskar
अमेठी में सिगरेट नहीं देने पर दुकानदार की हत्या।

अमेठी जिले में दो दिन पूर्व हुए रामकुमार हत्याकांड का संग्रामपुर पुलिस और एसओजी टीम ने 48 घंटे में खुलासा कर दिया है। पुलिस ने दो हत्यारोपियों को दो अवैध तमंचे के साथ गिरफ्तार कर लिया। हत्यारोपियों ने पुलिस को बताया कि हम लोग शराब पीने के बाद रामकुमार यादव की दुकान पर सिगरेट लेने गए थे। सिगरेट न देने पर हम लोगों का विवाद हो गया। संदीप ने रामकुमार को डंडे से मारा, जिससे वह बेहोश हो कर गिर गया। तभी संदीप ने रामकुमार का गला दबा दिया और अमन सरोज ने पैर पकड़ लिया था, जिससे उसकी मौत हो गई।

दोनों आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

अमेठी सीओ अर्पित कपूर ने बताया कि अपराध और अपराधियों की धरपकड़ के लिए अभियान चलाया गया था। एसओ संग्रामपुर अंगद सिंह व एसओजी प्रभारी धीरेंद्र कुमार वर्मा एक साथ चेकिंग कर रहे थे। इस दौरान मुखबिर की सूचना पर दो संदिग्ध व्यक्तियों को धनापुर चौराह के पास से गिरफ्तार किया गया। पूछने पर एक ने अपना नाम संदीप पुत्र श्यामलाल निवासी बरतली थाना संग्रामपुर और दूसरे ने अमन सरोज पुत्र रामलाल निवासी बरतली थाना संग्रामपुर बताया। संदीप के कब्जे से एक अवैध तमंचा, एक कारतूस 315 बोर व अमन सरोज के कब्जे से एक अवैध तमंचा, एक कारतूस 315 बोर बरामद हुआ।

तीन दिन पहले की थी हत्या

बता दें कि एक अक्टूबर की रात थाना क्षेत्र में रामकुमार की हत्या हुई थी। 2 अक्टूबर को मृतक के बेटे अरविंद कुमार यादव ने थाने पर लिखित तहरीर दी थी कि अज्ञात व्यक्ति द्वारा उसके पिता रामकुमार की हत्या कर दी गई है। जिस संबंध में थाना संग्रामपुर में मुकदमा दर्ज कर विधिक कार्रवाई की जा रही थी। पकड़े जाने के बाद आरोपियों ने पुलिस को बताया कि सिगरेट नहीं देने पर उन लोगों ने रामकुमार की गला दबाकर हत्या कर दी थी। हत्या करने के बाद शव को दुकान के बाहर तखत पर उल्टा लिटा दिया और वहां से चले गए।

खबरें और भी हैं...