अमेठी पहुंचे कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह:केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर साधा निशाना, कहा-बिल्डिंग तो राजीव गांधी और राहुल गांधी ने बनवाई है, सांसद तो केवल फीता काटने आती हैं

अमेठी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने अस्पताल का किया निरीक्षण। - Dainik Bhaskar
कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने अस्पताल का किया निरीक्षण।

उत्तर प्रदेश के अमेठी में स्वास्थ्य व्यवस्था पर सियासत तेज हो गई है। दो दिन पहले जिन अस्पतालों का केंद्रीय मंत्री और सांसद स्मृति ईरानी ने निरीक्षण किया था, सोमवार को उसका निरीक्षण करने कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह भी पहुंचे। उन्होंने जगदीशपुर ट्रामा सेंटर का औचक निरीक्षण किया। एमएलसी ने कहा कि अस्पताल में व्यवस्थाओं का होना भी जरूरी है। अस्पताल में डॉक्टर नहीं है, स्टॉफ नही है। बिल्डिंग तो राजीव गांधी और राहुल गांधी ने बनवा दी थी, लेकिन व्यवस्थाओं के नाम पर हम देखते हैं कि सांसद केवल फीता काटने आती हैं।

स्मृति ईरानी ने नहीं बनवाएं हैं अस्पताल...

एमएलसी दीपक सिंह ने कहा कि सरकार में अगर उनकी चलती है, तो जहां डॉक्टरों की जरूरत है वहां डॉक्टर की तैनाती हो। अमेठी में 13 सीएचसी, 30 पीएचसी, जिला अस्पताल और 200 बेड का अस्पताल राहुल गांधी ने बनवाया था। सब जगह मिलाकर केवल 53 डॉक्टर हैं। दीपक सिंह ने यह भी कहा कि जिन अस्पतालों का मैंने नाम लिया है, उसमें से एक भी स्मृति ईरानी ने नहीं बनाया है।

कोरोना के इलाज की नहीं है तैयारी

अस्पताल में न किसी हड्डी का डॉक्टर है और न ही किसी चीज का स्पेशलिस्ट है। पीएचसी-सीएचसी में डॉक्टर नहीं कम्पाउंर से अस्पताल चल रहा है। अस्पताल में भगवान भरोसे व्यवस्थाएं हैं। कोविड की तीसरी लहर का डर बना हुआ है, लेकिन जिले में तैयारी एक नहीं है।

स्मृति ईरानी ने भी साधा था निशाना

शनिवार को जगदीशपुर सीएचसी में ऑक्सीजन प्लांट के लोकार्पण के मौके पर स्मृति ने मंच से अमेठी के पूर्व सांसद राहुल गांधी पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि कोविड वैश्विक महामारी ने जब अमेठी के दरवाजे पर दस्तक दी, तो अमेठी में ढंग का एक जिला अस्पताल भी नहीं था। स्मृति ईरानी ने आगे कहा था कि अमेठी के प्रशासन ने ये संकल्प लिया है कि भारत सरकार और प्रदेश सरकार के साथ समन्वय कर जो 70 साल में अमेठी में नहीं हो पाया वो व्यवस्था हम करके दिखाएंगे।

खबरें और भी हैं...