अमरोहा पुलिस ने 5 परिवारों में लौटाई खुशियां:3 कांउसिंलिंग के बाद साथ रहने को तैयार हुए, नारी उत्थान केंद्र में सुनवाई के लिए आए थे 18 मामले

अमरोहा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नारी उत्थान केंद्र रिश्तों में आई दरारों को दूर कर रहा है। - Dainik Bhaskar
नारी उत्थान केंद्र रिश्तों में आई दरारों को दूर कर रहा है।

अमरोहा पुलिस ने पांच परिवारों में खुशियां लाैटाई हैं। घरेलू कलह के चलते इन परिवारों ने साथ छोड़ने की ठानी थी। नारी उत्थान केंद्र में इनकी तीन बार काउंसिलिंग की गई। आपसी सहमति के बाद अब ये परिवार साथ रहने को राजी हो गए हैं। नारी उत्थान केंद्र में घरेलू कलह के 18 मामले आए थे जिनमें टीम को यह सफलता मिली है।

आपसी रजामंदी से साथ रहने को हुए राजी

पुलिस अधीक्षक पूनम के निर्देश पर नारी उत्थान केंद्र रिश्तो में पड़ी दरारों को दूर करवाने का कार्य कर रहा है। केंद्र में कुल 18 घरेलू कलह के मामले आए हैं। जिन पर सुनवाई की गई। इन 18 फाइलों में से पांच फाइलों में आपसी समझौते के लिए लोग तैयार हो गए। जिसके बाद पांच जोड़ों को एक साथ जोड़ने का काम एसपी पूनम के निर्देशन में नारी उत्थान केंद्र की टीम ने किया।

तीन काउंसिलिंग के बाद पांचों जोड़ों ने आपस में रहने की रजामंदी दी है। सभी को घर भेज दिया गया है। वहीं हिदायत दी गई है कि आगे से कोई भी झगड़ा न किया जाए।

चार मामलों में मुकदमा दर्ज कराने को थाने में भेजी फाइल

नारी उत्थान प्रभारी संतोष बिश्नोई ने बताया कि पांच परिवारों में हुए विवाद को निपटाने हुए उनके बीच रजामंदी करवा दी गई है। नौ पीड़ित महिलाओं ने विधिक कार्रवाई का अनुरोध किया। जिसके बाद उनकी फाइल को आगे भेज दिया गया। जबकि चार मामलों में मुकदमा दर्ज कराने के लिए संबंधित थाने को जानकारी भेज दी गई है।

खबरें और भी हैं...