• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Amroha
  • The Groom Reached The Police Station To Get Rid Of My Brother, On The Complaint Of The Bride's Side, The Police Had Caught, The Procession Was To Come Today, The Ruckus Lasted For 3 Hours

थाने में ममेरे भाई को छुड़वाने पहुंचा दूल्हा:दुल्हन पक्ष की शिकायत पर पुलिस ने पकड़ा था, आज आनी थी बारात, 3 घंटे तक चला हंगामा

अमरोहा8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
थाने में ममेरे भाई को छुड़वाने पहुंचा दूल्हा नन्हे। - Dainik Bhaskar
थाने में ममेरे भाई को छुड़वाने पहुंचा दूल्हा नन्हे।

अमरोहा की डिडौली कोतवाली में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। हवालात में बंद अपने ममेरे भाई को छुड़ाने के लिए दूल्हा खुद ही थाने पहुंच गया।

दुल्हन पक्ष ने दहेज की मांग को लेकर मारपीट की शिकायत थाने में की थी, जिसमें पुलिस ने उसके ममेरे भाई को पकड़ लिया था। करीब 3 घंटे के हंगामा के बाद दोनों पक्ष को पुलिस ने वापस भेज दिया।

मामला डिडौली कोतवाली का है। यहां के बरखेड़ा राजपूत निवासी ओम प्रकाश के बेटे नन्हे की शादी संभल के थाना नखासा के गांव ईशापुर निवासी सोहन सिंह की बेटी मंजू से तय किया गया था। 14 मई को बारात आनी थी। इसके पहले 13 मई को दुल्हन के पिता सोहन सिंह अपने बेटे विनीत और सुभाष के साथ लगन चढ़ाने आए थे। इस दौरान दूल्हा पक्ष के साथ दहेज को लेकर कहासुनी हो गई। मामला इतना बढ़ा कि, दोनों पक्षों में मारपीट तक हो गई थी।

डिडौली कोतवाली में दूल्हे की वेशभूषा में पहुंचा नन्हे।
डिडौली कोतवाली में दूल्हे की वेशभूषा में पहुंचा नन्हे।

ममेरे भाई को छुड़वाने पहुंचा दूल्हा

इसके बाद दुल्हन पक्ष ने डिडौली कोतवाली में तहरीर देकर शिकायत की थी। पुलिस ने शुक्रवार को दूल्हे को ममेरे भाई को हिरासत में ले लिया था। वहीं, शनिवार को दुल्हन पक्ष के यहां बारात की तैयारियां की जा रहीं थीं। शादी के मंगल गीत भी गाए जा रहे थे। शनिवार को दोपहर करीब एक दूल्हे की वेशभूषा में नन्हे अपने परिजनों के साथ थाने में पहुंच गया। साथ ही ममेरे भाई को छुड़ाने की मांग करने लगा। उसने कहा, "जब तक भाई को छोड़ा नहीं जाएगा, तब तक बारात लेकर नहीं जाऊंगा।"

दूल्हन पक्ष में थाने में दूल्हे पक्ष के खिलाफ दी तहरीर।
दूल्हन पक्ष में थाने में दूल्हे पक्ष के खिलाफ दी तहरीर।

दाेनों पक्षों को नखासा थाने भेजा

इसी बीच पुलिस ने दुल्हन पक्ष के लोगों को भी बुला लिया। कोतवाली में ही हंगामा शुरू हो गया। करीब तीन घंटे तक दोनों पक्षों में विवाद होता रहा। इस मामले में एसओ सुनील कुमार मलिक ने बताया कि दूल्हे के ममेरे भाई का शांति भंग में चालान कर दिया है। यह मामला थाना नखासा का है, लिहाजा दोनों पक्षों को वहां भेज दिया गया है।

आज आनी थी बारात

संभल के ईशापुर सुनवारी में बारात के स्वागत की तैयारियां पूरी हो गई थीं। दुल्हन मंजू भी अपने दूल्हे के इंतजार में थी। थाने की चौखट पर मामला पहुंचने पर शादी की तैयारियां धरी की धरी रह गईं।