अमरोहा में आचार संहिता की भेंट चढ़ा गरीबों का रिफाइंड:योगी व मोदी के फोटो लगे होने से राशन डीलर ने देने से किया मना, 527 लोग नाराज होकर लौटे वापस

अमरोहा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अमरोहा में राशन डीलर ने कहा कि आचार संहिता का कर रहा हूं पालन - Dainik Bhaskar
अमरोहा में राशन डीलर ने कहा कि आचार संहिता का कर रहा हूं पालन

अमरोहा के गजरौला ब्लॉक के गांव पाल में गरीबों के लिए शासन द्वारा मुफ्त दिया जा रहा रिफाइंड आचार संहिता की भेंट चढ़ गया। सैंकड़ों गरीब लोग मुफ्त रिफाइंड तेल से वांछित रह गए। उपभोक्ताओं ने राशन डीलर से विरोध किया तो डीलर ने आचार संहिता के उलंघन का हवाला देते हुए न देने की बात कही। जिस पर तमाम उपभोक्ता डीलर से नाराज हो गए और जमकर हंगामा काटा।

लोगों ने डीलर पर कम राशन देने का लगाया आरोप

जिले में आचार संहिता के चलते शासन द्वारा गरीबों के लिए मुफ्त दिए जा रहे रिफाइंड तेल से गाँव पाल व भारापुर माफी के करीब 527 लोग वांछित रह गए। गांव के तमाम गरीब लोगों का कहना है कि इस बार उन्हें बाकी राशन तो मिल गया लेकिन रिफाइंड का पैकेट राशन डीलर ने नही दिया। साथ ही राशन डीलर पर राशन कम देने का आरोप लगाया।

डीलर बोला- उच्चाधिकारियों के आदेश पर नहीं किया वितरण

उधर राशन डीलर प्रमोद भारती ने बताया कि शासन द्वारा सभी गरीब लोगों के लिए मुफ्त राशन दिया जा रहा है। इस बार आचार सहिंता के चलते योगी मोदी के फोटो लगे रिफाइंड तेल को नही बांटा गया। जिसका लोगों द्वारा विरोध भी किया गया। साथ ही बताया कि उन्होंने उच्चाधिकारियों के आदेश के बाद ही ऐसा किया है। अब योगी मोदी के फोटो लगे रिफाइंड को वापस भेजा जाएगा।

खबरें और भी हैं...