अमरोहा पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ:जनसभा में बोले- आने वाले 6 महीने महत्वपूर्ण, 2022 में जरा भी चूकने की जरूरत नहीं

अमरोहा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम योगी का अमरोहा दौरा आज। - Dainik Bhaskar
सीएम योगी का अमरोहा दौरा आज।

अमरोहा दौरे पर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि 2022 में जरा भी चूकने की जरूरत नहीं है। आने वाले छह महीने बहुत महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि इन छह माह में भाजपा से जुड़कर भाजपा को और मजबूत बनाने का काम करें।

31 परियोजनाओं का किया लोकार्पण व शिलान्यास

बता दें कि बुधवार दोपहर 02:40 बजे सीएम योगी का हेलीकॉप्टर पुलिस लाइन पर बने हेलीपेड पर उतरा। यहां से सीएम कार द्वारा जनसभा स्थल पर 02:45 बजे पहुंचे। यहां सीएम योगी ने 433 करोड़ की 31 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास क‍िया। इसमें 13 परियोजनाओं का लोकार्पण व 18 परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल है। इसके अलावा सीएम योगी ने लाभार्थी परक योजनाओं के प्रमाण पत्र वितरित क‍िए। इसके बाद जनसभा को संबोधित क‍िया।

हमारी सरकार चीनी मिलें चलाने काम कर रही

अमरोहा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि किसानों के चेहरों पर खुशहाली ही सही मायने में देश की खुशहाली है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार प्रदेश की चीनी मिलों को बंद करने अथवा उन्हें बेचने का नहीं बल्कि चलाने का काम कर रही है। किसान इस देश की रीढ़ हैं। उन्होंने कहा कि सरकार बगैर भेदभाव के शासन की योजनाओं को जनजन तक पहुंचा रही है। उन्होंने सरकारी ‍आवास, मुफ्त राशन, रसोई गैस आदि दिए जाने की बात भी कही।

आने वाले छह महीने महत्वपूर्ण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कश्मीर में धारा 370 और अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर के निर्माण का जिक्र भी किया। उन्होंने लोगों से कहा कि 2022 में जरा भी चूकने की जरूरत नहीं है। आने वाले छह महीने बहुत महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि इन छह माह में भाजपा से जुड़कर भाजपा को और मजबूत बनाने का काम करें। किसानों के साथ ही हर वर्ग के चेहरे पर मुस्कराहट लाने के लिए फिर से भाजपा की सरकार बनाने में सहयोग करें।

नजरबंद किए गए थे किसान नेता

सीएम योगी के दौरे को देखते हुए जिला प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद की थी। वहीं जिले के किसान नेताओं ने सीएम योगी को काले झंडे दिखाने का ऐलान किया था। बता दें कि किसान तीनों कृषि कानून का विरोध कर रहे हैं। जिला पुलसि-प्रशासन ने जिले के किसान नेताओं को घर पर ही नजरबंद कर दिया था। किसान नेताओं के घर के बाहर पुलिस का पहरा लगा दिया गया था।

खबरें और भी हैं...