महिला से मारपीट का 11 साल पुराना मामला:दोषी को तीन वर्ष की कैद, न्यायालय ने छह हजार रुपये का अर्थदण्ड भी लगाया

बिधूना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विशेष न्यायाधीश (अनुसूचित जाति अधिनियम) मीनू शर्मा ने थाना बिधूना क्षेत्र में एक अनुसूचित जाति की महिला के साथ मारपीट, गाली गलौज की थी। दोषी पुन्नू उर्फ जनमेद सिंह यादव को तीन वर्ष के कठोर कारावास दण्डित व छह ह‍जार रुपये अर्थदण्ड की सजा दी है।

पीड़िता ने बताया- पहले साइकिल से गिराया फिर जातिसूचक गालियां दी
मामले की अभियोजन की ओर से पैरवी कर रहे अभियोजन अधिकारी देशराज सिंह ने बताया कि वादिनी गुड्डी देवी निवासी शामपुर गोंडा ने न्यायालय के आदेश पर थाना बिधूना में रिपोर्ट दर्ज करायी थी। आरोप है कि वादिनी के खेत में विपक्षी जबरन बकरियां चरा रहा था। मना करने पर देख लेने की धम‌की दी। 15 अप्रैल 2011 को वादिनी अपने देवर प्रहलाद के साथ साइकिल से मेला देखकर अपने घर वापस आ रही थी। वह शाम 4 बजे जैसे ही अभियुक्त पुन्नू के दरवाजे के सामने पहुंची तभी पुन्नू ने वादिनी को साइकिल से जमीन पर गिरा लिया और जाति सूचक गालियां देते हुए मारपीट की।

बचाव पक्ष ने आरोपी की बीमारी की बात कहकर उस पर दया की मांग की
पुलिस से विवेचना कर कोर्ट में चार्जशीट लगाई। बचाव पक्ष ने आरोपी की बीमारी की बात कहकर उस पर दया की मांग की। यही अभियोजन ने कठोर दण्ड की वहस की। दोनों पक्षकारों को सुनने के बाद एडीजे मीनू शर्मा ने अभियुक्त पुन्नू उर्फ जन्मेद सिंह यादव निवासी शामपुर गोंडा थाना बिधूना को तीन वर्ष के कठोर कारावास व छह हजार रूपये अर्थदण्ड की सजा से दण्डित किया। अर्थदण्ड की आधी धनराशि पीड़िता को प्रतिकर के रूप में प्रदान करने का भी आदेश कोर्ट ने दिया। दोष सिद्ध अपराधी के द्वारा प्रस्तुत मामले में जेल में बिताई गयी अवधि उपरोत कारावास की समयावधि में समायोजित की जाएगी।

खबरें और भी हैं...