बिधूना में करंट की चपेट में आकर महिला की मौत:कमरे में आराम करते समय ऊपर गिरा फार्राटा पंखा, करंट से गई जान

बिधूना, औरैया4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिधूना कस्बा में एक महिला घर का काम निपटाने के बाद कमरे में आराम कर रही थी, तभी पास में चल रहा फर्राटा पंखा उसके ऊपर गिर गया। जिससे महिला करंट की चपेट में आकर चीखने लगी। महिला के चीखने की आवाज सुनकर देवरानी उसके कमरे में गयी तो देखा ऊपर पंखा रखा है। देवरानी ने चिल्लाते हुए हिम्मत जुटाकर तार हटाकर उसके सीने पर रखा पंखा हटाया। इसी दौरान पड़ोसियों के आ जाने पर महिला को सीएचसी लाया गया। जहां पर चिकित्सकों ने देखते ही महिला को मृत घोषित कर दिया।

जानकारी के अनुसार मूल रूप से बेला क्षेत्र के गांव धरमंगदपुर निवासी संजीव अग्निहोत्री और उसका भाई बबलू अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए कस्बा के मोहल्ला तिलक नगर स्थित अपने घर में रहते थे। मंगलवार की सुबह संजीव और उनका भाई बबलू गांव में धान की रोपाई कराने गए हुए थे। संजीव की पत्नी मोहिता ने बच्चों को तैयार कर स्कूल भेजा और उसके बाद घर का काम निपटाने के बाद दिन में करीब 10 बजे अपने कमरे में जाकर आराम करने के लिए लेट गई। तभी पास में चल रहा फर्राटा पंखा उसके ऊपर गिर गया और महिला पंखे में आ रहे करंट की चपेट में आ गयी।

करंट से महिला की मौत के बाद गमगीन बैठे परिवार के लोग।
करंट से महिला की मौत के बाद गमगीन बैठे परिवार के लोग।

परिजनों ने नहीं कराया पोस्टमॉर्टम

करंट की चपेट में आते ही महिला चीखने लगी। जेठानी के चीखने की आवाज सुनकर दूसरे कमरे मौजूद उसकी देवरानी रिचा दौड़कर गयी तो देखा कि जेठानी के ऊपर पंखा पड़ा है। जिसके बाद उसने चिल्लाते हुए हिम्मत जुटाकर पहले पंखा के तार हटाए जिसके बाद महिला के ऊपर पड़ा पंखा हटाया। इधर चिल्लाने की आवाज सुनकर पड़ोसी मौके पर आ गये और महिला को आनन फानन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले गए। जहां पर चिकित्सकों ने महिला को देखने के बाद मृत घोषित कर दिया। महिला की मौत की जानकारी होते ही बच्चों व परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो रहा था। परिजन बिना पोस्टमार्टम कराए शव को गांव ले गए।

करंट से महिला की मौत के बाद घर पर जुटी लोगों की भीड़।
करंट से महिला की मौत के बाद घर पर जुटी लोगों की भीड़।

बच्चों को पढ़ाने के लिए रहती थी बिधूना

मोहिता और उसकी देवरानी रिचा अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए कस्बा के मोहल्ला तिलकनगर स्थित आवास में रहतीं थी। मृतका के तीन बच्चे हैं। जिनमें स्तुति (12) कक्षा सात, तनवी (8) कक्षा तीन और बेटा डुग्गू (6) नर्सरी क्लास में पढ़ता है। महिला की मौत से बच्चों समेत परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो रहा है।

महिला को आननफानन में परिजन इलाज के लिए जाते हुए।
महिला को आननफानन में परिजन इलाज के लिए जाते हुए।
महिला को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिधूना लाया गया था।
महिला को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिधूना लाया गया था।

पति और देवर धान रोपने गांव गए थे

बताया गया कि मृतका के पति संजीव और देवर बबलू खेती किसानी का काम करते हैं। वह सुबह गांव चले जाते हैं और देर शाम बिधूना वापस आ जाते हैं। मंगलवार की सुबह भी दोनों भाई धान की रोपाई कराने हेतु सुबह गांव चले गए थे। बच्चे स्कूल चले गए थे। घर पर जेठानी और देवरानी अपना अपना काम करके अपने कमरों में चली गई थीं। तभी मोहिता के ऊपर फार्रटा पंखा गिर जाने से वह करंट की चपेट में आ गयी थी।

खबरें और भी हैं...